कार्रवाई के डर से छापेमारी: सिर्फ एक थाना क्षेत्र में 4.7 करोड़ का बालू जब्त, 52 बालू माफिया पर केस

कार्रवाई के डर से छापेमारी: सिर्फ एक थाना क्षेत्र में 4.7 करोड़ का बालू जब्त, 52 बालू माफिया पर केस

GAYA : बालू के अवैध खनन में पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों की मिलीभगत की पूरी पोल खुल गई है। सरकार ने बालू के अवैध धंधे में लगे 41 अधिकारियों पर कार्रवाई की है। इसमें SO से लेकर थानेदार और SDO से लेकर DTO-MVI और खनन के पदाधिकारी शामिल हैं। सरकार के सख्त रुख के बाद प्रशासन हरकत में आया है।अपने ऊपर कार्रवाई न हो जाये इस डर से अब बालू माफियाओं के खिलाफ छापेमारी की जा रही है।

 गया में बालू माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। बेलागंज थाना क्षेत्र में फल्गु नदी में हो रहे बालू उत्खनन भंडारण और परिवहन के विरुद्ध छापेमारी की गई। पुलिस ने 52 कारोबारियों के खिलाफ बेलागंज थाने में एफ आई आर भी कराया है। वहीं 12 लाख 20000 सीएफटी अवैध बालू जब्त किया गया है ।समझ सकते हैं कि सिर्फ एक थाना क्षेत्र में इतने बालू को अवैध रूप से खनन कर जमा किया गया था। जब्त बालू का बाजार मूल्य 4 करोड से अधिक बताया जा रहा है।

 जितनी बालू जब्त है उस हिसाब से परिवहन के लिए 4000 से अधिक ट्रकों को लगाया जाता।  गया सदर के एसडीओ इंद्रवीर कुमार के नेतृत्व में यह छापेमारी हुई है। बेलागंज के फल्गु नदी के किनारे सिमरा, श्रीपुर, बरौनी, हसनपुर आदि गांव के समीप अवैध बालू भंडारण पर छापेमारी की गई। कुल 13 स्थानों पर अवैध बालू का भंडारण पाया गया। खान निरीक्षक ने इस मामले में बेलागंज थाना में तीन अलग-अलग प्राथमिकी दर्ज कराई है और अभियुक्तों पर 50 लाख 80 हजार ओके का जुर्माना लगाया है।

Find Us on Facebook

Trending News