दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित हुए रजनीकांत, बधाइयों का लगा तांता

दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित हुए रजनीकांत, बधाइयों का लगा तांता

DESK: 51वें दादा साहब फाल्के पुरस्कार का ऐलान करते ही दक्षिणवासियों के बीच ख़ुशी की लहर दौड़ गयी। सिनेमा जगत के 'थलाइवा' अर्थात भगवान का दर्जा पाने वाले और दक्षिण फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत को 51वें दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस बात की जानकारी दी है।

दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड अनाउंस करते हुए प्राकश जावड़ेकर ने कहा, 'मुझे ये बताते हुए बहुत खुशी हो रही है कि इस बार 51वां दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड भारतीय सिनेमा के इतिहास के सबसे बेहतरीन अभिनेता रजनीकांत को दिया जाएगा। बहुमुखी प्रतिभा के धनी रजनीकांत ने न केवल एक अभिनेता के तौर पर, बल्कि निर्माता और स्क्रीनराइटर के तौर पर उनका योगदान सिनेमा जगत के लिए अतुलनीय है।

5 ज्यूरी ने एक स्वर में रखा नाम

प्रकाश जावड़ेकर ने अपने सोशल मीडिया ट्विटर पर इस बात की खुशी ज़ाहिर की रजनीकांत के नाम पर पांचों ज्यूरी मैंबर्स का एकमत एक ही फैसला था। ये पांचों ज्यूरी मैंबर्स थे आशा भोंसले, मोहनलाल, विश्वजीत चटर्जी, शंकर महादेवन और सुभाष घई। वे पांच दशक से फिल्म इंडस्ट्री पर राज कर रहे है और लोगों का मनोरंजन कर रहे है। उन्होंने यह मुकाम मेहनत ,सच्ची लगन और प्रतिभा के बदौलत पाया है।

पीएम मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दादा साहेब फाल्के पुरुस्कार का सम्मान पाने वाले अभिनेता रजनीकांत के लिए खुशी व्यक्त की। पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा है, 'कई दशक तक दर्शकों के दिल पर राज़ करने वाले, एक ऐसे शख्स जिन्होंने कई तरह के किरदार को निभाकर लोगों का भरपूर मनोरंजन किया और वे काफी लोकप्रिय हैं... वो शख्स और कोई नहीं बल्कि हमारे 'थलाइवा' रजनीकांत है। यह बेहद खुशी की बात है कि उन्हें दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्हें बधाई।'

रजनीकांत की फैन फॉलोइंग साउथ में कितनी है इसका अंदाज़ा भी लगा पाना मुश्किल है। एक्टर ने ना सिर्फ साउथ फिल्मो में अपनी छाप छोड़ी है बल्कि रजनीकांत कई बॉलीवुड फिल्मों में भी नज़र आए हैं। जैसे  ‘चालबाज, अंधा कानून, कबाली, 2.0, द रोबोट, त्यागी, खून का कर्ज, दोस्ती दुश्मनी, इंसाफ कौन करेगा’। एक बेहद गरीब परिवार में जन्मे रजनीकांत का फ़िल्मी सफ़र काफी लोगों के लिए प्रेरणा है जो जिंदगी में कुछ करना चाहते है लेकिन गरीबी ,आर्थिक तंगी के चलते जिंदगी में आगे बढ़ने से हिचकिचाते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News