पूर्व मंत्री रामजतन सिन्हा का नीतीश कुमार से हुआ मोहभंग, अपने समर्थकों के साथ जेडीयू कार्यालय जाकर देंगे सामूहिक इस्तीफा

पूर्व मंत्री रामजतन सिन्हा का नीतीश कुमार से हुआ मोहभंग, अपने समर्थकों के साथ जेडीयू कार्यालय जाकर देंगे सामूहिक इस्तीफा

PATNA: करीब दो साल पहले बड़े अरमान के साथ जेडीयू का दामन थामने वाले पूर्व मंत्री रामजतन सिन्हा का नीतीश कुमार से मोह भंग हो गया है। उन्होंने अब पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया है। सीएम नीतीश कुमार के समक्ष जेडीयू में शामिल हुए रामजतन सिन्हा ने ऐलान कर दिया है कि वे अफने तमाम समर्थकों के साथ 8 अक्टूबर को जेडीयू जाकर सामूहिक इस्तीफा देंगे।

नीतीश कुमार पर बड़ा अटैक

पूर्व मंत्री रामजतन सिन्हा ने अपने फेसबुक पोस्ट के माध्यम से नीतीश कुमार पर बड़ा हमला बोला है।उन्होंने लिखा है कि करीब 2 वर्ष पूर्व मैंने बड़े उत्साह और धूमधाम के साथ बिहार के कोने कोने से आये अपने 5000 (पांच हजार) समर्थकों के साथ पटना के सबसे बड़े हॉल बापू सभागार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली जनता दल यूनाईटेड की सदस्य्ता ग्रहण की थी। बाद में पार्टी मुख्यालय में बचे हुये समर्थकों को सम्बोधित करते हुए विस्मय और खुशी का इज़हार करते हुए  नीतीश कुमार ने मेरी काफी प्रशंसा की। इससे मेरे समर्थकों  में आशा, भरोसा और विश्वास जगा की नीतीश कुमार लोकसभा टिकट देंगे या मंत्री परिषद में कोई महत्वपूर्ण स्थान देगें। इसी बीच महीना,वर्ष गुजरते गये। राज्यसभा विधान परिषद  मंत्रिपरिषद का विस्तार हुआ। मेरे लिये अपने समर्थकों के जिज्ञासा का जबाब देना मुश्किल होता रहा। फिर भी मैं धैर्यपूर्वक शान्त होकर देखता रहा।

चोर-उचक्के के बेटे को दिया जा रहा टिकट पर मेरे बेटे को नहीं

पूर्व मंत्री ने आगे लिखा है कि अब चोर-उचक्के के बेटों को लुंजपुंज व्यक्ति को अपेक्षाकृत मेरे तेज तर्रार बेटे को दरकिनार कर विधानसभा टिकट अपने शिखण्डी सलाहकारों के इशारे पर दे रहे हैं, यह घोर अपमान है। अपमान सह चुप बैठना यह बड़ा अपराध है। इसलिए मैंने पूरे बिहार के समर्थकों के साथ पार्टी मुख्यालय बीरचन्द पटेल पथ में उपस्थित होकर सामूहिक रूप से इस्तीफा सौंपने का निर्णय लिया है।उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया है कि 8 अक्टूबर को आप सभी भारी संख्या में उपस्थित होकर इस्तीफा उत्सव को सफल बनायें।

Find Us on Facebook

Trending News