कॉलेज परिसर में नमाज पढना प्रोफेसर को पर गया भारी, जांच समिति गठित, छुट्टी पर भेजे गए प्रोफेसर

कॉलेज परिसर में नमाज पढना प्रोफेसर को पर गया भारी, जांच समिति गठित, छुट्टी पर भेजे गए प्रोफेसर

DESK. कॉलेज परिसर में नमाज पढने वाले एक प्रोफेसर को छुट्टी पर भेज दिया गया है। दरअसल, अलीगढ़ के एक निजी कॉलेज के एक प्रोफेसर को परिसर में खुली जगह में नमाज पढ़ने के लिए अधिकारियों ने छुट्टी पर भेज दिया। अधिकारियों के अनुसार कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो सामने आया था जिसमें प्रोफेसर एसके खालिद को श्री वार्ष्णेय कॉलेज के परिसर के अंदर एक बगीचे में नमाज अदा करते देखा गया। वीडियो को कॉलेज के अधिकारियों के संज्ञान में लाया गया और एक जांच पैनल का गठन किया गया।

जैसे ही वीडियो वायरल हुआ, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और युवा मोर्चा सहित दक्षिणपंथी संगठनों ने प्रोफेसर और कॉलेज के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। पूरे मामले में प्रोफेसर एके गुप्ता ने कहा कि उक्त घटना के समय मैं अवकाश पर था। वापस आने के बाद मैंने पूछताछ की। प्रोफेसर ने मुझे बताया कि वह जल्दी में थे और उन्होंने एक पार्क में नमाज़ पढ़ी। मामले की तफ्तीश करने के लिए जांच शुरू कर दी गई है। पैनल के निर्णय के अनुसार आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। 

अधिकारियों ने कहा कि रविवार को गठित पैनल इस सप्ताह अपनी रिपोर्ट सौंपने वाला है। गुप्ता ने कहा, "जांच समिति की एक बैठक तय करेगी कि माफी मांगने की जरूरत है या नहीं।  मामले के संबंध में कोई प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआईआर) दर्ज नहीं की गई है। पुलिस ने कहा कि कॉलेज प्रशासन से रिपोर्ट मिलने के बाद मामले में कार्रवाई की जाएगी।


Find Us on Facebook

Trending News