ऋषभ पंत के करियर पर लटकने लगी तलवार, चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने कह दी बड़ी बात

ऋषभ पंत के करियर पर लटकने लगी तलवार, चीफ सेलेक्टर एमएसके प्रसाद ने कह दी बड़ी बात

N4N Desk: इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेले गये आखिरी यानी ओवल टेस्ट की दूसरी पारी में विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत द्वारा खेली गयी धमाकेदार शतकीय पारी की चहुंओर तारीफ़ हो रही है लेकिन पूर्व दिग्गज विकेटकीपरों ने बल्लेबाजी से इतर उनकी कीपिंग को लेकर कई सवाल खड़े किये हैं। किरण मोरे, नयन मोंगिया और दीपदास गुप्ता के बाद अब मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने भी भी पंत की विकेटकीपिंग पर सवालिया निशान लगा दिया है। 


पंत की विकेटकीपिंग पर उठे सवाल

भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद की माने तो ऋषभ पंत की बल्लेबाजी काफी उम्दा है। सभी जानते हैं कि उसकी बैटिंग काफी लाजवाब है लेकिन विकेटकीपिंग उम्मीद के मुताबिक नहीं है। कीपिंग में इस होनहार क्रिकेटर को काफी सुधार करना होगा। चीफ सेलेक्टर के मुताबिक इंग्लैंड में विकेट के पीछे पंत उतना अधिक प्रभावशाली नज़र नहीं आया। उसकी बल्लेबाजी पर किसी को शंका नहीं है। मैं भी उसकी बैटिंग से काफी खुश हूं लेकिन कीपिंग ने निराश किया है। 

पूर्व भारतीय विकेटकीपर एमएसके प्रसाद की दिली ख्वाहिश है कि ऋषभ पंत के लिए एक ट्रेनिंग प्रोग्राम बनाया जाए, जिसमें वे अपनी विकेटकीपिंग को विशेषज्ञों की देखरेख में निखार सकें। प्रसाद के मुताबिक पंत के पास तीन टेस्ट मैचों का अनुभव है लिहाजा उसे अपनी खामियों पर ध्यान देना होगा ताकि भारतीय टीम के लिए लंबी रेस का घोड़ा साबित हो सके।  

चीफ सेलेक्टर ने सलामी बल्लेबाजों का किया बचाव

मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने ये भी कहा कि ऋषभ पंत के साथ-साथ भविष्य के कुछ विकेटकीपरों की तलाश की गयी है। सभी को विशेषज्ञों की देखरेख में निखारा जाएगा। एमएसके प्रसाद ने इंग्लैंड में टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाजों के प्रदर्शन का बचाव करते हुए कहा कि ये चिंता का विषय जरूर है लेकिन सीरीज के दौरान इंग्लैंड के ओपनर्स भी फिसड्डी नज़र आए। जिन मैचों में हमने शानदार शुरुआत दी है, वो टेस्ट मैचों में हमने जीत दर्ज की है। मुश्किल हालात की वजह से दोनों टीमों के सलामी बल्लेबाज सीरीज में जूझते नजर आए।

एमएसके प्रसाद ने एलिस्टर कुक का उदाहरण देते हुए कहा कि 160 टेस्ट मैचों में देश का प्रतिनिधित्व करने वाले कुक भी इस सीरीज के दौरान स्ट्रगल करते नज़र आए। बकौल कुक, वह अबतक जितने भी मुश्किल हालात में खेले हैं, ये उनमें से एक था लिहाजा हमें अपने प्लेयर्स के प्रति नरम रवैया अख्तियार करना होगा। 

साभार- प्रसून पाण्डेय

Find Us on Facebook

Trending News