RJD में TRP का खेल, एक-दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ में 2 नेताओं ने कराई 'तेजस्वी' की फजीहत, जानिए JDU में टूट की इनसाइड स्टोरी...

RJD में TRP का खेल, एक-दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ में 2 नेताओं ने कराई 'तेजस्वी' की फजीहत, जानिए JDU में टूट की इनसाइड स्टोरी...

पटनाः राजद के बयान बहादुरों से पार्टी नेतृत्व ने पल्ला झाड़ लिया है। बयान देने में एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ में राजद नेतृत्व परेशान हो गया है. इसके बाद नेतृत्व ने अपने बयान बहादुरों को सख्त लहजे में चेतावनी दी है। जानकार बताते हैं कि तेजस्वी के तल्ख तेवर के बाद बयानवीर नेता बैकफूट पर आ गए हैं। दरअसल, दो दलित नेताओं के बीच आपसी प्रतिस्पर्धा में तरकश से एक से बढ़कर एक बयान रूपी तीर छोड़े जाने लगे। राजद नेताओं ने बिना धुआं के ही आग निकलने की अफवाह फैला दी। जिससे बिहार की राजनीतिक तपिश बढ़ गई थी। राजद के तोड़फोड़ वाली इस अफवाह से पार्टी का कुछ भला हुआ या नहीं लेकिन जेडीयू सतर्क जरूर हो गई है।  

एक-दूसरे से आगे बढ़ने की होड़ में राजद को किया डैमेज

जानकार बताते हैं कि राजद में अपना कद बढ़ाने को लेकर कई नेता तरह-तरह के दांव चल रहे। राजद के बयान बहादुर नेता सत्ताधारी जेडीयू और सीएम नीतीश पर हमला कर राजद नेतृत्व के समक्ष अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज कराने में जुटे हैं। राजद के एक बड़े नेता ने मीडिया में बयान देकर नीतीश कुमार को सलाह दे दी कि आप सीएम की कुर्सी छोड़िए आपको हमलोग पीएम कैंडिडेट बनायेंगे। उनके इस बयान के बाद बिहार की राजनीति में गर्माहट बढ़ गई। राजद के उक्त बड़े नेता की देश भर में चर्चा शुरू हो गई,उन्होंने जिस मिशन के तहत बयान दिया था उसमें वो कामयाब होते दिख रहे थे। जानकार बताते हैं कि उदय नारायण चौधरी को मिले रही टीआरपी को कम करने की चाल चली गई। राजद के ही एक बड़े नेता श्याम रजक ने अचानक बड़ा बयान देकर सनसनी फैला दी। उन्होंने कह दिया कि जेडीयू में बड़ी टूट होने वाली है। श्याम रजक के इस बयान के बाद उदय नारायण चौधरी पिछड़ गए और सिर्फ श्याम रजक की चर्चा शुरू हो गई। लेकिन इन सब के बीच राजद परेशान हो गया। क्यों कि जेडीयू में तोड़फोड़ की योजना की शउरूआत ही नहीं हुई उसके पहले ही नेता बड़ा-बड़ा बयान देने लगे। 

राजद नेताओं के दावों की सीएम नीतीश ने निकाल दी हवा

इसी बीच राजद के तमाम आरोपों का सीएम नीतीश ने हवा निकाल दी। उन्होंने कहा कि उनका मिशन कामयाब नहीं होने वाला और कहीं कोई टूट नहीं हो रही। सीएम नीतीश के इस बयान के बाद राजद पूरी तरह से बैकफूट पर आ गया। जानकार बताते हैं कि श्याम रजक के टूट वाले बयान से राजद नेतृत्व काफी खफा है और बयानवीरों को सख्त लहजे में चेतावनी दे दी है कि इस तरह के बयान बंद करें। ऐसी बयानबाजी से फायदा की जगह सिर्फ नुकसान ही है। आप लोग पार्टी को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करना बंद करिये।

 नेतृत्व के हड़काने के बाद बैकफूट पर गए श्याम रजक

जानकार बताते हैं कि राजद नेतृत्व के सख्त फरमान के बाद श्याम रजक बुधवार की रात ही बैकफूट पर आ गए थे। उन्होंने अपने दावे से पलटी मारते हुए कहा कि आरजेडी को ना नीतीश कुमार चाहिए, ना ही उनकी पार्टी के विधायक. यह अलग बात है कि जेडीयू के 17 विधायक अपनी ही पार्टी में सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं.

राजद नेतृत्व ने श्याम रजक के बयान को बताया निजी

राजद नेतृत्व ने भी श्याम रजक के बयान  जेडीयू तोड़ने वाले बयान को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि श्याम रजक का बयान उनका निजी बयान है,इससे पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है। 

Find Us on Facebook

Trending News