BJP की जमानत जब्त होने का दावा करते-करते स्वास्थ्य विभाग के सवाल पर राजद के विधायक हो गए चुप, नहीं दिया जवाब, जानें क्या था मामला

BJP की जमानत जब्त होने का दावा करते-करते स्वास्थ्य विभाग के सवाल पर राजद के विधायक हो गए चुप, नहीं दिया जवाब, जानें क्या था मामला

PATNA : बिहार के दो सीटों मोकामा और गोपालगंज में होनेवाले उपचुनाव को लेकर नामांकन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। जिसके बाद अब महागठबंधन की तमाम पार्टियों अपनी जीत की घोषणा कर दी है। वहीं जब राजद विधायक व प्रवक्ता भाई वीरेंद्र से उपचुनाव को लेकर बात की गई तो उन्होंने सीधे सीधे कह दिया कि यहां भाजपा के उम्मीदवार अपनी जमानत भी नहीं बचा सकेंगे। लेकिन जैसे ही उनसे तेजस्वी यादव के स्वास्थ्य विभाग से जुड़ा सवाल किया गया, तो उन्होंने इस पर बात करने से कन्नी काट ली और तेजी से वहां से जाने लगे। शायद वह स्वास्थ्य विभाग के सवालों का सामना नहीं करना चाहते थे।

दरअसल, दो दिन पहले बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव एनएमसीएच के दौरे पर गए थे। जिसके बाद उन्होंने बीते शुक्रवार को अधीक्षक विनोद कुमार सिंह को निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया। लेकिन, स्वास्थ्य मंत्री के इस कार्रवाई को लेकर आईएमए ने आपत्ती जता दी है। उन्होंने इसे जल्दबाजी में की गई कार्रवाई बताया और साथ ही तेजस्वी यादव से पूछ लिया कि बिना नोटिस जारी किए वह कैसे यह कार्रवाई कर सकते हैं। इस मुद्दे पर आज आईएमए की बैठक भी बुलाई गई है। 

राजद ने अपने सारे सोशल साइट्स पर किया था शेयर

तेजस्वी यादव के इस कार्रवाई के बाद राजद ने ट्विटर सहित अपने सभी सोशल मीडिया साइट्स पर निलंबन से जुड़ी खबर को शेयर किया है। साथ ही तेजस्वी  यादव की जमकर तारीफ की है। लेकिन, अब जब इस पर विवाद बढ़ गया है और आईएमए ने जिस तरह से सवाल उठाए हैं, उसके बाद राजद की तरफ से इस अब कोई जवाब देते नहीं बन रहा है। कम से कम भाई वीरेंद्र जिस तरह से इस सवाल से बचते दिखे, उससे यही अंदाजा लगाया जा सकता है।


Find Us on Facebook

Trending News