पीएम मोदी के रोजगार वाले बयान पर राजद नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा- अब एनडीए के पास कोई मुद्दो नहीं बचा, नौकरी देने का ऐलान किया तो पेट में दर्द शुरू हो गया

पीएम मोदी के रोजगार वाले बयान पर राजद नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा- अब एनडीए के पास कोई मुद्दो नहीं बचा, नौकरी देने का ऐलान किया तो पेट में दर्द शुरू हो गया

दरभंगा... बिहार विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रैली के बाद राजनीतिक गलियारों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है। दरअसल रैली के दौरान प्रधानमंत्री ने 15 वर्षों के जंगल राज को याद दिलाते हुए कहा कि लालटेन युग में एक सरकारी नौकरी के लिए करोड़ों लिए जाते थे। अब विपक्ष वापस फिर से वही साजिश रच रही है। जिस पर राजद के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्की ने प्रधानमंत्री के इस बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि डबल इंजन की सरकार जब हर मोर्चे पर विफल साबित हुई और जब इन लोगांे के पास कुछ मुद्दा कहने को नहीं रहा तो हमारी पार्टी द्वारा 10 लाख बेरोजगार को नौकरी देने का ऐलान किया तो इनके पेट में दर्द शरू हो गई है। 

वहीं, राजद के वरिष्ठ नेता सह केवटी विधानसभा के उम्मीदवार अब्दुल बारी सिद्की ने एनडीए सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भारत में दो तरह के कानून चलते हंै। नीरब मोदी, विजय माल्या, ललित मोदी सहित बड़े उद्योगपतियों के लिए अलग कानून होता है। वहीं किसान, मजदूरों के लिए अलग कानून होता है। उन्होंने कहा कि विपक्ष के द्वारा हमलोग गाली नया नहीं सुन रहे हैं। हमारे नेता जननायक कर्पूरी ठाकुर ने जब आरक्षण लागू किया था, तो यही लोग नारा लगाकर गंदी गाली देने का काम किया करते थे। 

अब्दुल बारी सिद्की ने कहा कि जब कर्पूरी जी का निधन हो गया तो, गाली देने वाले बीजेपी के नेता अपने कार्यालय में जन्मदिन मनाते हुए, उनको माल्यार्पण करते है। वहीं, उन्होंने योगी सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि यूपी में क्या हो रहा है। दलित, पिछड़ा, अल्पसंख्यक मारा जा रहा है। हथरस की घटना छुपी हुई नहीं है और दिन पर दिन आंकड़े के हिसाब से उनके यहां दुष्कर्म की संख्या बढ़ रही है। तो ये है उनका राम-राज और हम गरीबों की बात करते हैं तो यह हो गया जंगल राज।


Find Us on Facebook

Trending News