'रोड नहीं तो वोट नहीं' का बैनर लगा कर ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार का लिया फैसला

'रोड नहीं तो वोट नहीं' का बैनर लगा कर ग्रामीणों ने मतदान बहिष्कार का लिया फैसला

पटना: पालीगंज विधान सभा के सियारामपुर और घूरना विघा गाँव के मतदाताओं ने रोड नहीं तो वोट नहीं का बैनर लगा कर मतदान का बहिष्कार किया। पालीगंज मुख्यालय थाना के सियारामपुर और घूरना बीघा के मतदाताओं ने जनप्रतिनिधियों के खिलाफ चुनाव में मोर्चा खोल दिया है ।

वहीं सियारामपुर गाँव पटना औरंगाबाद NH 139 पथ से लगभग 3 किलोमीटर दूरी पर स्थित है. कई वर्षों से ग्रामीण सम्पर्क पथ जर्जर हालत में है. ग्रामीणों ने संसद विधायक से मिलकर कई बार सड़क का रिपेरिंग कराने की मांग की थी. लेकिन संसद विधायक पर ग्रामीणों का कोई असर नहीं हुआ जिससे नाराज मतदाताओं ने यह कदम उठा लिया। 

सियारामपुर गाँव पूर्व से ही भाजपा समर्थित रहा है वहीं गाँव के मतदाताओं कि नाराजगी का चुनाव पर असर दिखेगा। ग्रामीणों ने सियारामपुर गाँव के बाहर पेड़ पर बैनर लगा कर सड़क नहीं तो वोट नहीं का नारा लिख कर विरोध जता रहे है. वहीं पालीगंज के घूरना विघा गाँव के मतदाताओं ने गाँव के बिजली के पोल पर पोस्टर लगा कर मतदान बहिष्कार करने का निर्णय लिया है. गाँव के युवा मतदाताओं ने सरकार पर आरोप लगाये है कि आजादी के 70 साल गुजर जाने के बाद भी सड़क नहीं है. 

जाहिर सी बात है कि लोकतंत्र में मतदाताओं को चुनाव में ही अपनी आवाज उठाने का अवसर मिलता है. जो मतदाताओं ने मतदान बहिष्कार करने का फैसला लिया है देखना है की अनुमंडल के पदाधिकारी मतदाताओं को कैसे मतदान करने पर राजी करते है ।


Find Us on Facebook

Trending News