पथ निर्माण मंत्री नन्द किशोर यादव के खिलाफ फूटा लोगों का गुस्सा, रोड नहीं तो वोट नहीं का लगाया पोस्टर

पथ निर्माण मंत्री नन्द किशोर यादव के खिलाफ फूटा लोगों का गुस्सा, रोड नहीं तो वोट नहीं का लगाया पोस्टर

PATNACITY : विधानसभा चुनाव की तारीखें जैसे जैसे नज़दीक आती जा रही है. वैसे वैसे नेताओं का क्षेत्र दौरा भी तेज होता जा रहा है. इधर जनता ने भी अब नेताओं से हिसाब मांगना शुरू कर दिया है. मामला पटना साहिब विधानसभा यानी क्षेत्रीय विधायक नंदकिशोर यादव के क्षेत्र का है. आपको बता दें कि पटना साहिब विधानसभा के दीदारगंज स्थित दीदारगंज आरओबी के पास आम जनता ने गलियों से लेकर मूख्य सड़क तक रोड नहीं तो वोट नहीं के बैनर को लगा रखा है. 

इलाके की हालत ऐसी है की लोग बीमार बच्चे को खटिया पर लेकर कीचड़ के बीच गुजरते दिख रहे हैं. गली में घनी आबादी है लेकिन सड़क नहीं है. यहाँ के लोग स्थानीय पार्षद से लेकर स्थानीय विधायक तक गुहार लगा चुके हैं. फिर भी कोई सुनने वाला नहीं है. यहां के लोग नारकीय जीवन जीने को विवश है. लोग बताते है कि साल में 6 महीना गली की यही स्थिति रहती है. 

वार्ड नम्बर 72 की पार्षद सह उपमहापौर मीरा देवी ने भी अपनी जनता को इस नरक में जीने के लिए छोड़ दिया है. लोग कहते है की जब चुनाव का समय नज़दीक आता है तब नेता वोट मांगने दरवाजे तक चले आते है. लेकिन हमारी समस्या पर ध्यान तक नहीं देते है. हालांकि जिस क्षेत्र में यानी वार्ड 72 में जिस जगह बैनर लगा है. उस जगह 6 से 10 हज़ार वोट पड़ता है. 

लेकिन लोगों ने इस बार वोट बहिष्कार का मन बना लिया है और कहा है कि जब तक हमारी समस्या पर ध्यान नहीं दिया जाता है. तब तक हमलोग वोट नहीं करेंगे. आपको बता दे कि हाल ही में कुछ दिन पहले नन्दकिशोर यादव ने इसी क्षेत्र में एक सभा को सम्बोधित करते हुए कहा था कि आप लोग के समर्थन यानी वोट से हमें काम करने की प्रेरणा मिलती है. जिसके बाद काम करने में भी मन लगता है. इस बार हमारे हाथ को मजबूत करिए. लेकिन अब वहीँ जनता उनका विरोध कर रही है. 

पटनासिटी से रजनीश की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News