शेखपुरा में सात निश्चय योजना का बुरा हाल, चालू होने से पहले ही जमींदोज हुआ टंकी

शेखपुरा में सात निश्चय योजना का बुरा हाल, चालू होने से पहले ही जमींदोज हुआ टंकी

SHEKHAPURA : शेखपुरा जिले के शेखोपुर सराय प्रखंड क्षेत्र के अंतर्गत चरुआमां गांव के वार्ड नंबर 4 में मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के अंतर्गत मिनी पाइप जलापूर्ति योजना के अंतर्गत 102 घरों में शुद्ध पानी पीने के लिए टंकी का निर्माण कराया गया था. इस योजना में करीब 28 लाख रुपए खर्च किए गए हैं. ताकि लोगो को शुद्ध पेयजल मिल सके. लेकिन शुद्ध पेयजल भ्रष्टाचार का भेंट चढ़ गया. वही योजना में लापरवाही एवं मनमानी बरती गई. जिसका नतीजा लाभ से पहले की जलापूर्ति योजना जमींदोज हो गया. इस संबंध में जानकारी देते हुए चरूआमा गांव निवासी ने बताया कि घटिया निर्माण के कारण पानी टंकी अचानक भरभरा कर गिर गया. घटना के बाद ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त हो गया है. 

इस संबंध में जानकारी देते हुए चरूआमा गांव निवासी मेहंदी इमाम, मुजलिम मोहम्मद, इबालुक हक, मोहम्मद मिराज सहित अन्य ग्रामीण ने बताया कि नल जल योजना में काफी लापरवाही बढ़ती गई है. आज तक नल जल योजना का शुद्ध जल सही ढंग से नहीं पहुंच पा रहा है. नल जल योजना के संवेदक के मनमानी के कारण कई घरों में जल के लिए लगाए गए पाइप में अब तक नल भी नहीं लगाया गया है. गांव में लगभग गली की ढलाई को तोड़ दिया गया है. लेकिन पाइप बिछाने के कई महीनों बाद भी ढलाई नहीं करने से गांव की सारी गलियां गड्ढे में तब्दील हो गई है. 

गड्ढों को भरने के नाम पर सिर्फ उसने मिट्टी डाल दिया गया है. ढलाई नहीं होने के कारण अंडरग्राउंड पाइप लाइन जहां-तहां से फट गया है. इससे पेयजल की काफी  बर्बादी भी हो रही है. ग्रामीण ने बताया कि  ठेकेदार को कई बार इसको लेकर शिकायत किया गया. लेकिन किसी ने संज्ञान नहीं लिया. बिहार सरकार की महत्वकांक्षी योजना में शामिल हर घर नल का जल को लेकर नीतीश कुमार से लेकर जिलाधिकारी तक करा रूख अपनाए हुए हैं. इसके बावजूद भी नल जल योजना ने भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया और लोग शुद्ध पेयजल के आस में लगे है.

शेखपुरा से दीपक कुमार की रिपोर्ट  

Find Us on Facebook

Trending News