कोरोना वायरस के संदिग्ध या चिन्हित रोगियों के लिए सेनिटाइजड एम्बुलेंस की होगी व्यवस्था

कोरोना वायरस के संदिग्ध या चिन्हित रोगियों के लिए सेनिटाइजड एम्बुलेंस की होगी व्यवस्था

PURNEA : पिछले कुछ दिनों में देश में भी कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में इज़ाफा देखने को मिला है. संक्रमण की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार द्वारा निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं. राज्य सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार बिहार में अभी तक एक भी कोरोना वायरस से पीड़ित मामले की पुष्टि नहीं हुई है. इस मामले को लेकर राज्य सरकार भी अधिक गम्भीर है. इसी दिशा में स्वास्थ्य विभाग एक और पहल करते हुए कोरोना वायरस के संदिग्ध या चिन्हित रोगियों के लिए राज्य के सभी जिलों में सेनिटाइजड एम्बुलेंस की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए गए हैं. निर्देश के आलोक में कार्यपालक निर्देशक स्वास्थ्य विभाग मनोज कुमार ने सभी चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल सहित सभी सिविल सर्जन को पत्र लिखकर विस्तार से जानकारी भी दी है.

पूर्णिया सिविल सर्जन डॉ मधुसूदन प्रसाद ने कहा कि कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण को देखते हुए संदिग्ध या चिन्हित रोगियों के परिवहन के लिए सेनिटाइजड एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाएगी. एम्बुलेंस कर्मियों को COVID-19 के संक्रमण से बचाव के लिए कोरोना वायरस प्रोटेक्शन किट भी दिया जाएगा. वही इस सम्पूर्ण प्रक्रिया में विश्व स्वास्थ्य संगठन के अधिकारीयों से सहयोग लेने के भी निर्देश दिए गए हैं.

पूर्णिया सीएस ने जानकारी देते हुए कहा कि पत्र के माध्यम से राज्य के सभी जिला अस्पतालों एवं चिकित्सा महाविद्यालय अस्पतालों में 102 नंबर की सेनिटाइजड एम्बुलेंस को भी इस स्थिति को निपटने में प्रयोग किया जायेगा. अगर भविष्य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या अधिक होती भी है तो अतिरिक्त एम्बुलेंस को चिन्हित कर उपयोग में लाया जायेगा. 

ये वही एम्बुलेंस होगी. जिसमें कोरोना संदिग्ध एवं चिन्हित रोगियों को अस्पताल या घर पहुँचाया जाएगा. भारत सरकार द्वारा निर्गत दिशा-निर्देश के आलोक मे चिन्हित एम्बुलेंस को दिन में 2 बार सेनिटाइजड किया जाना है ताकि संक्रमण प्रसार को विराम लगाया जाय.

पूर्णिया से श्याम नंदन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News