संजय जायसवाल ने CM नीतीश को 'रिकार्ड प्लेयर' से की तुलना, मुख्यमंत्री बोले- ई कौन है..क्या है वह ?

संजय जायसवाल ने CM नीतीश को 'रिकार्ड प्लेयर' से की तुलना, मुख्यमंत्री बोले- ई कौन है..क्या है वह ?

PATNA :बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बीजेपी के निशाने पर हैं. अमित शाह ने मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा था कि वे सत्ता के लिए पांच बार पाला बदल  लिये और कांग्रेस की गोद में बैठ गये। इसके बाद बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल ने नीतीश कुमार को रिकार्ड प्लेयर से तुलना कर दी। साथ ही नीतीश कुमार का एक पुराना वीडियो जारी कर मुख्यमंत्री को कटघरे में खड़ा किया। वीडियो में नीतीश कुमार तेजस्वी यादव पर तंज कसते सुने जा रहे हैं. सीएम नीतीश ने तब कहा था कि वह नौकरी देने की बात कर रहा. वह पइसवा कहां से लायेगा, क्या जिसके लिए अंदर गया था,उसी पैसवा से होगा? 

ई कौन है ......

बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जायसवाल के प्रहार के बाद सीएम नीतीश ने भी संजय जायसवाल पर कटाक्ष किया। उनसे बिहार बीजेपी अध्यक्ष द्वारा जारी किये गये वीडियो पर पूछा गया तो उन्होंने संजय जायसवाल को जानने से ही इनकार कर दिया है। नीतीश कुमार ने कहा कि ''ई कौन है...किन के बारे में कह रहे हैं...क्या है वह? आप जानना लीजिए, उन्ही से पूछ ना लीजिए कि आरजेडी में कब थे? इस तरह से सीएम नीतीश ने संजय जायसवाल का मजाक उड़ाया। 


बिहार बीजेपी के अध्यक्ष ने क्या कहा था? 

डा. संजय जायसवाल ने अपने फेसबुक हैंडल से किए गए पोस्ट में लिखा है कि जेपी से जुड़ी बातों को लेकर लिखा है, जिसमें उन्होंने बताया है कि जय प्रकाश नारायण ने कहा था  “ अगर आरएसएस फासीवादी संगठन है तो जेपी भी फासीवादी है। बेतिया सांसद ने इन पंक्तियों के साथ लिखा है कि नीतीश कुमार जी मे अगर हिम्मत हो तो कहें कि जयप्रकाश नारायण जी ने ये शब्द नहीं कहै हैं। बता दें कि कल नागालैंड में नीतीश कुमार ने आरएसएस को फासीवादी संगठन बताते हुए उन पर महात्मा गांधी की हत्या में शामिल होने का आरोप लगाया था।

रिकार्ड प्लेयर से की तुलना

इस पोस्ट के साथ डा. संजय जायसवाल ने नीतीश कुमार की तुलना रिकॉर्ड प्लेयर से कर दी। उन्होंने लिखा है कि नीतीश कुमार जी की सबसे विशेष बात यह है कि वह 70 के दशक के रिकॉर्ड प्लेयर के रिकॉर्ड की तरह हैं। इसमे एक साथ जय संतोषी मां फिल्म का गाना है और दूसरी तरफ लैला मजनू का। नीतीश कुमार जी के दिमाग का रिकॉर्ड प्लेयर जब चाहता है उलट कर रिकॉर्ड बजाने लगता है। वह समझते हैं कि बिहार की जनता भोली भाली और नादान है और वह जब चाहें पलटी मार कर रिकॉर्ड उल्टा चला सकते हैं।

इसके साथ ही उन्होंने विधानसभा चुनाव से जुड़े चुनाव प्रचार के दौरान का नीतीश कुमार का एक वीडियो भी शेयर किया है, जिसमें वह तेजस्वी यादव के दस लाख नौकरी देने की बात की टांग खिंचते हुए कह रहे हैं कि वह इतने नौकरियों के लिए पैसा कहां से लाएंगे। वेतन में जाली नोट देंगे क्या। इसके साथ ही नीतीश कुमार भाषण में यह भी कहते हैं कि जो हो ही नहीं सकता है. वह काम वह कैसे कर सकते हैं। अब महागठबंधन की सरकार बनने के बाद नीतीश कुमार यह बताएं कि अब इतनी नौकरियों के लिए वह पैसे कहां से लाएंगे। वह समझते हैं कि बिहार की जनता भोली भाली और नादान है और वह जब चाहें पलटी मार कर रिकॉर्ड उल्टा चला सकते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News