एसटीएफ डीएसपी पर लगा दुष्कर्म का गंभीर आरोप, PHQ ने पीड़िता को कहा - बिना सबूत नहीं कर सकते कार्रवाई

 एसटीएफ डीएसपी पर लगा दुष्कर्म का गंभीर आरोप, PHQ ने पीड़िता को कहा - बिना सबूत नहीं कर सकते कार्रवाई

PATNA : एक तरफ बिहार के मुख्यमंत्री राज्य की बेटियों को आगे बढ़ने के लिए कई प्रकार की योजनाएं ला रहे हैं। आरक्षण की व्यवस्था कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफमहिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभालनेवाले ही उनकी आबरु को तार तार कर रहे हैं। कुछ दिन पहले ही गया में ड्यूटी के दौरान डीएसपी द्वारा एक दलित बच्ची से दुष्कर्म किए जाने की बात सामने आई थी। अब एक और डीएसपी के खिलाफ दुष्कर्म का आरोप लगा है। बताया गया कि पटना में कार्यरत डीएसपी ने युवती को 2018 में दर्ज एक मामले में मदद का भरोसा दिलाया और उसके साथ दुष्कर्म किया। जब पीड़िता ने पुलिस विभाग के वरीय अधिकारियों को इस बात की जानकारी दी, वहां से यह कहा गया कि वह तभी कार्रवाई कर सकते हैं, जब वह डीएसपी के खिलाफ कोई सबूत पेश करेगी। पीएचक्यू की तरफ से पीड़िता को इसके लिए गुरुवार तक का समय दिया गया है। वहीं दूसरी तरफ अपने पति के बचाव में पत्नी ने पीड़िता  को फ्रॉड बताते हुए शादी करने का दबाव बनाने की बात कही है।

समस्तीपुर की रहनेवाली है पीड़िता 

मामला समस्तीपुर की रहनेवाली युवती से जुड़ा है। पीड़िता का आरोप है पटना एसटीएफ में कार्यरत रहे डीएसपी अमन कुमार ने जबरन घर में घुसकर दुष्कर्म किया और उसके बाद किसी को बताने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी। बिहार डीजीपी को लिखे गये पत्र में पीड़िता ने डीएसपी के साथ तीन अन्य लोगों के खिलाफ भी शिकायत की है। पीड़िता ने अपने आरोप में कहा है कि लड़कियों की मजबूरी का फायदा डीएसपी की आदत है, इससे पहले भी वह कईयों के साथ ऐसा कर चुका है। यहां तक कि उसने दो शादियां भी की हैं,जिसके बारे में भी वह सभी से झूठ बोलता है। 

2018 के मामले में मदद का दिया था भरोसा

अपनी शिकायत में युवती ने बताया है कि उनके पिता का देहांत हो चुका है। उसने बताया है कि 2018 में पटना के महिला थाना में उसने एक मामला दर्ज कराया था, जिसके कारण वह नियमित रूप से पटना आना-जाना कर रही थी। इस दौरान आरोपियों की तरफ से मुझे और मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी। जिसको लेकर 2019 में दुर्गापूजा के दो दिन पहले पीरबहोर थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। इसी मामले में कार्रवाई के लिए मैं पटना डीआईजी कार्यालय गई हुई थी। जहां सर्वजीत नाम के पुराने पहचान वाले से मुलाकात हुई। पीड़िता ने बताया कि सर्वजीत के जरिए एसटीएफ के डीएसपी अमन कुमार से मेरी मुलाकात हुई। इस दौरान डीएसपी ने भरोसा दिलाया कि वह मेरी पूरी सहायता करेंगे।

फोन पर भेजने लगे अश्लील वीडियो

पीड़िता ने बताया कि इसके बाद डीएसपी ने अपने फोन नं. 9431252002 से मुझे फोन करने लगे, साथ ही व्हाटस अप पर गंदे मैसेज और अश्लील वीडियो भेजना शुरू कर दिया। जिससे मैं काफी परेशान थी। पीड़िता ने कहा कि हद तो तब हो गई, जब 10 जनवरी 2020 को पटना हाईकोर्ट सुनवाई में शामिल होने के लिए पहुंची थी। इस दौरान डीएसपी वहां पहुंच गए और मुझे एसएसपी से मिलाने की बात कहकर अपने साथ ले गए। लेकिन एसएसपी कार्यालय जाने की जगह उन्होंने गाड़ी इको पार्क की तरफ घूमा दिया। जहां उन्होंने किसी से मिलने की बात कही। इस दौरान समय लगने की बात कहकर वह मुझे पार्क में ले गए और अश्लील हरकतें शुरू कर दी। उसकी इस हरकत का विरोध जताते हुए मैं वहां से चली गई। 

घर पर आकर किया दुष्कर्म

पीड़िता का कहना है कि इस घटना के बाद लगातार मुझसे मिलने की बात करता रहा। 6 जुलाई को अचानक मेरे घर पहुंच गया। इस दौरान घर पर कोई नहीं था, जिसका फायदा उठाते हुए डीएसपी ने जबरन दुष्कर्म किया। इस दौरान अपनी पहुंच और पावर की धमकी भी दी। इसके बाद उसने सर्वजीत और अपने रिश्तेदारों पुष्पा कुमारी, दीपा कुमारी व शशिभूषण के जरिए मुझे डराने की कोशिश की।

करतूत का पूरा सबूत होने की बात

डीजीपी को लिखे गए लेटर में पीड़िता ने डीएसपी के खिलाफ कई सारे सबूत होने की बात कही है। वहीं डीएसपी के खिलाफ लगे आरोपों को पुलिस मुख्यालय ने गंभीरता से लिया है। मामले में पीएचक्यू की तरफ से पीड़िता को सारे सबूतों के साथ प्रस्तुत होने के लिए कहा गया है। बताया जा रहा है कि पीड़ित महिला बेली रोड स्थित पुलिस मुख्यालय में DGP को परिवाद सौंपेगी।

बचाव में उतरी डीएसपी की पत्नी

मामले में जब न्यूज4नेशन ने आरोपी डीएसपी से संपर्क करने की कोशिश की तो उनकी पत्नी पुष्पा से बात हुई। जिसमें पीड़िता के आरोपों को पूरी तरह से गलत बताया है। उन्होंने कहा है कि मेरे पति युवती को जानते थे। उसकी सहायता करने के लिए एक दो बार उनसे मिले भी थे। लेकिन वह लगातार मेरे पति को मैसेज कर रही थी। जिसके लिए मैनें उसे मना भी किया था। इसके बाद भी लगातार मेरे पति को परेशान कर रही थी। डीएसपी की पत्नी ने बताया कि वह मेरे पति पर झूठे आरोप लगाकर शादी करने का दबाव दे रही थी। जब पति ने उनकी बात नहीं मानी, तो उनकी छवि खराब करने के लिए झूठे आरोप लगा रही हैं। डीएसपी की पत्नी पुष्पा कुमारी ने बताया कि मैनें इस संबंध में महिला पुलिस हेल्पलाइन में शिकायत भी की है।



Find Us on Facebook

Trending News