शाहनवाज हुसैन ने सिल्क मार्क एक्सपो का किया उद्घाटन, बोले- ज्यादा से ज्यादा लोग आकर प्योर सिल्क को करें प्रोत्साहित

शाहनवाज हुसैन ने सिल्क मार्क एक्सपो का किया उद्घाटन, बोले- ज्यादा से ज्यादा लोग आकर प्योर सिल्क को करें प्रोत्साहित

पटना. बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने पटना में सिल्क मार्क एक्सपो 2022 का आयोजन किया। यह आज से शुरू होकर 1 मई 2022 तक चलेगा। इस दौरान शाहनवाज हुसैन ने अपील की कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस एक्सपो में आएं और बिहार व देश की प्योर सिल्क को प्रोत्साहित करें। इस दौरान शाहनवाज हुसैन ने कहा कि वो घड़ी करीब आ गई है, जिसका बेसब्री से बिहार वासियों का इंतजार है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मार्गदर्शन में पिछले एक साल की दिनरात की मेहनत अब अच्छे नतीजे दे रही है। उन्होंने कहा  कि 30 अप्रैल 2022 को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथों केंद्र और बिहार की इथेनॉल पॉलिसी 2021 आने के बाद देश के पहले नए ग्रीनफील्ड ग्रेन बेस्ड इथेनॉल उत्पादन इकाई का शुभारंभ होगा। उन्होंने कहा कि पूर्णियां में 105 करोड़ की लागत से ईस्टर्न इंडिया बायोफ्यूल्स प्रा. लि. की इथेनॉल उत्पादन इकाई स्थापित हुई है, जो रिकॉर्ड 1 साल में बनकर तैयार हुई है।

उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि पूर्णियां के अलावा गोपालगंज में भी दो और आरा में एक इथेनॉल उत्पादन इकाई बनकर तैयार है, जिसका जल्द उद्घाटन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिहार में इस वक्त उद्योग का शानदार माहौल है। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरपुर के मोतीपुर में कई इकाइयों ने निर्माण कार्य शुरु कर दिया है और राज्य के अन्य हिस्सों में भी उद्योग के क्षेत्र में काफी हलचल है। उन्होंने कहा कि जो लोग अब भी मानने को तैयार नहीं कि बिहार में उद्योग लग सकते हैं, उनके लिए पूर्णिया में खुल रहा इथेनॉल उत्पादन का प्लांट एक उदाहरण है।

बुधवार को बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने प्योर सिल्क को बढ़ावा देने के लिए बिहार में पहली बार लगे सिल्क मार्क एक्सपो का शुभारंभ पटना में एग्जीविशन रोड स्थित पाटलिपुत्रा एग्जॉटिका होटल में किया। 1 मई तक चलने वाले इस एक्सपो में बिहार के सिल्क उत्पादकों के साथ 7 राज्यों के सिल्क उत्पादकों ने अपने स्टॉल्स लगाए हैं। बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार में छोटे बड़े सभी उद्योग साथ साथ आगे बढ़ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि बिहार में इस वक्त 100 करोड़, 500 करोड़ की औद्योगिक ईकाईयां लग रही है तो बिहार के पारंपरिक उद्योग जैसे हैंडलूम, हैंडीक्राफ्ट्स की भी चिंता हम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार में पहली बार लगे सिल्क मार्क एक्स्पो से न सिर्फ बिहार व भारतीय सिल्क की ब्रांडिंग में  मदद मिल रही है, बल्कि प्योर सिल्क को बढ़ावा देकर सिल्क उत्पादकों के लिए भी बेहतर बाजार उपलब्ध कराने की कोशिश है।

उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि हम जो कहते हैं वो करते हैं और जो होना नहीं है, वो कहते नहीं है। सिल्क मार्क एक्सपो के शुभारंभ पर उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने बिहार की सिल्क को बढ़ावा देने के लिए भी कई बड़े ऐलान किए । उन्होंने कहा कि केंद्रीय रेशम बोर्ड की मदद से भागलपुर में कोकून बैंक का निर्माण होगा और तसर वेट रीलिंग ईकाई स्थापित की जाएगी जिनकी अनुमानित राशि करीब 4 करोड़ है।

उन्होंने कहा कि भागलपुर में तसरवेट रीलिंग इकाई की स्थापना से भारी मात्रा में हो रही कोरियन सिल्क के आयात में कमी आएगी, जो कि बेहद जरूरी है। उन्होंने ये भी कहा कि बुनकर महिलाओं को 1400 बुनियाद मशीनें बांटी जा रही है, जिससे थाई रीलिंग जैसी कुप्रथा का अंत होगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय रेशम बोर्ड के सीईओ और सदस्य सचिव राजित रंजन ओखंडियार जी की बिहार को पूरी मदद मिल रही है और उनके सहयोग से बिहार में हैंडलूम व हैंडीक्राफ्ट्स उद्योग को आगे बढ़ाने में काफी मदद मिलेगी। सिल्क मार्क एक्सपो 2022 का आयोजन आज 27 अप्रैल से शुरु होकर 1 मई 2022 तक किया गया है। शाहनवाज हुसैन ने अपील की कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस एक्सपो में आएं और बिहार व देश की प्योर सिल्क को प्रोत्साहित करें।

Find Us on Facebook

Trending News