श्मसान घाट में वेटिंग ही वेटिंग, 40 घंटे के बाद भी नहीं हो पा रहा अंतिम संस्कार

श्मसान घाट में वेटिंग ही वेटिंग, 40 घंटे के बाद भी नहीं हो पा रहा अंतिम संस्कार

झारखंड: झारखंड में कोरोना बेकाबू हो रहा है. एक तरफ संक्रमित मरीजों की संख्या तेज गति से बढ़ती जा रही है, वहीं मरने वालों का आंकड़ा भी रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है. अब हालात यह हो गई है कि अस्पतालों में भर्ती कराने से लेकर श्मशान घाट तक वेटिंग ही वेटिंग मिल रही है. कब्रिस्तान से लेकर शमशान तक मृतकों के दाह संस्कार के लिए उनके परिजन परेशान हैं. एक मृतक के पुत्र ने कहा कि वे पिछले 40 घंटे से अपने पिता के दाह संस्कार के लिए खड़े हैं, कहीं से कोई मदद नहीं मिल रही. 

झारखंड में कोरोना के इलाज के लिए पहले हॉस्पिटल्स में बेड का इंतजार और अब दाह संस्कार के लिए भी लाइन लगानी पड़ रही है. राजधानी रांची में कुछ ऐसे ही हालात बन गए हैं. शवों को श्मशान घाट ले जाया जा रहा है, लेकिन लंबे इंतजार के बाद ही उनका अंतिम संस्कार हो पा रहा. रविवार रात की स्थिति बहुत ही खराब हो गई. 

हरमू स्थित श्मशान घाट में कोरोना संक्रमित कुल 13 शव लाये गये. यहां कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों के शवों का गैस क्रिमेटोरियम में दाह संस्कार किया जा रहा है. लेकिन मशीन में आई खराबी की वजह से शवों का अंतिम संस्कार नहीं हो सका. मृतक के परिजन शवों को लेकर घंटों श्मशान घाट के मुख्य दरवाजे के पास खड़े रहे. 

काफी मशक्कत के बाद देर रात जिला प्रशासन के निर्देश के बाद इन शवों को घाघरा ले जाकर अंतिम संस्कार कराया गया. शवों की संख्या इतनी बढ़ती जा रही की लोग अंतिम संस्कार करने के लिए भी नंबर लगायें हुए हैं.


Find Us on Facebook

Trending News