न्यायिक ‘आदेश’ या ‘साजिश’ को लेकर भिड़ गए डिप्टी सीएम सुशील मोदी और शिवानंद तिवारी, एक दूसरे को दे रहे उपदेश

न्यायिक  ‘आदेश’ या ‘साजिश’ को लेकर भिड़ गए डिप्टी सीएम सुशील मोदी और शिवानंद तिवारी, एक दूसरे को दे रहे उपदेश

PATNA : न्यायिक साजिश शब्द पर बिहार में राजनीति गरम है। सुशील मोदी ने न्यायिक आदेश को साजिश करार देने पर सुप्रीम कोर्ट से स्वत: नोटिस लेने की मांग की थी।मोदी ने शनिवार को ट्वीट कर कहा था कि जब चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद या परिवार के किसी सदस्य को जमानत मिलती है तब राजद नेता न्यायपालिका में भरोसा होने का दिखावा करते हैं। वहीं प्रतिकूल निर्णय आने पर उनका असली चेहरा सामने आता है। अब तेजस्वी यादव को बंगला खाली करने और 50 हजार रुपये जुर्माना भरने के सुप्रीम कोर्ट के न्यायिक आदेश को पार्टी के काबिल नेता साजिश बता रहे हैं।

मोदी को उपदेश देने की आदत-शिवानंद

मोदी के इस ट्वीट का जवाब देने राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी आगे आए हैं।उन्होने कहा कि सुशील मोदी को उपदेश देने की आदत है।अति उत्साह में सुप्रीम कोर्ट को भी उपदेश देने से नहीं चुकते हैं।उनका यही उत्साह उनकी अज्ञानता का भी परिचय कराता है। अब तक राजद यह समझती थी कि लोकतंत्र मे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के बारे में इतना भर ज्ञान तो होगा? 

शिवानंद तिवारी ने कहा कि सुशील मोदी को हमारी सलाह है कि थोड़ा कम बोला करें। युवा अवस्था वाली छपास के नशे से तो अब उनको उबरना चाहिए। वैसे भी उनके ‘बॉस’ बिहार को नशा मुक्त बनाने का हसीन सपना देख रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News