फर्जी दारोगा से ड्यूटी करवाकर फंस गए थानाध्यक्ष, एसपी ने किया निलंबित

फर्जी दारोगा से ड्यूटी करवाकर फंस गए थानाध्यक्ष, एसपी ने किया निलंबित

KHAGDIYA : फर्जी ज्वाइनिंग लेटर बदौलत 18 दिन तक मानसी थाने में ड्यूटी करनेवाले दारोगा को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं उसके खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया गया है। इसके साथ ही मामले में लापरवाही बरतने को लेकर जिले के पुलिस कप्तान ने एक और बड़ी कार्रवाई की है। आज खगड़िया एसपी अमितेश कुमार ने मानसी थानाध्यक्ष की घोर लापरवाही को लेकर मानसी थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है। वहीं एसपी का कहना है कि कोई दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इस मामले में और छानबीन जारी है। उम्मीद है कि जल्द ही उस दलाल को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

गौरतलब है कि पिछले दिनों इस बात का खुलासा हुआ था कि बेगूसराय जिले के विक्रम कुमार नाम का युवक 18 दिनों तक बिना D.O  के  मानसी थाना में दारोगा के पद पर ड्यूटी कर रहा है। जिसके बाद जिले के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। इस दौरान सदर DSP के साथ छापेमारी में भी गया। इसके बाद जब युवक के ज्वाईनिंग लेटर की जांच की गई तो उसका कागजात फर्जी निकाला। लिहाजा एसपी के आदेश पर फर्जी दारोगा विक्रम कुमार के खिलाफ मानसी थाना में केस दर्ज किया गया है और पुलिस ने विक्रम कुमार को गिरफ्तार भी कर लिया।

फर्जी दारोगा ने किया अपना बचाव

मानसी थाना पुलिस का कहना है कि ज्याईनिंग लेटर और डिस्ट्रिक्ट ऑर्डर के प्रतीक्षा के आधार पर युवक को थाना में योगदान करने दिया गया। बाद में जांच में वह फर्जी पाया गया। इधर फर्जी दारोगा का कहना है कि मुंगेर का एक व्यक्ति ने उसके साथ धोखेबाजी किया है। उसने ही उसे फर्जी कागजात दिया।

बहरहाल, इन सब के बीच इस प्रकरण में खगड़िया पुलिस पर सवाल खड़ा हो रहा है। आखिर बिना पुलिस लाइन में योगदान के और बिना D.O के मानसी थाना में युवक को योगदान करने कैसे दिया गया? 

Find Us on Facebook

Trending News