किसी जमाने में लालू के खास रहे थे श्याम रजक,एक बार फिर से पाला बदलने की तैयारी,कल होंगे राजद में शामिल!

किसी जमाने में लालू के खास रहे थे श्याम रजक,एक बार फिर से पाला बदलने की तैयारी,कल होंगे राजद में शामिल!

पटनाः किसी जमाने में लालू के खास दरबारी रहे श्याम रजक ने 2009 में अचानक पाला बदल लिया था।सीएम नीतीश को पानी पी-पी कर कोसने वाले श्याम रजक एक झटके में ही लालू यादव का साथ छोड़ दिया था।वे जून 2009 में राजद के राष्ट्रीय महासचिव के पद से इस्तीफा कर जेडीयू में शामिल हुए थे। जेडीयू में शामिल होने के बाद उनकी नीतीश कुमार से नजदीकी हो गई थी।फिर क्या था कभी लालू के दरबारी रहे श्याम रजक अब उन पर जमकर अटैक करने लगे। 2015 के विधानसभा चुनाव तक तो सबकुछ ठीक रहा ।उसके बाद श्याम रजक की जेडीयू में उल्टी गिनती शुरू हो गई.अब विधान सभा चुनाव से ठीक पहले वे नीतीश कुमार को बाय-बाय कहने वाले हैं।सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक वे सोमवार को राजद में शामिल हो सकते हैं.

2015 तक खूब रही चलती

2009 के बाद श्याम रजक की जेडीयू में खूब चलती हो गई।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जब 2010 में सरकार बनी उसके बाद उन्हें खाद्ध आपूर्ति मंत्री बनाकर सम्मानित किया गया।2010 से लेकर 2015 तक तो श्याम रजक की खूब चली।लेकिन 2015 के विधान सभा चुनाव के बाद उनकी उल्टी गिनती शुरू हो गई।2015 में जब बिहार में महागठबंधन की सरकार बनी उसमें सीएम नीतीश ने उन्हें मंत्री नहीं बनाया। तब मंत्री नहीं बनाये जाने पर श्याम रजक अंदर ही अंदर खासे नाराज रहते थे।एक बार तो उनका स्टिंग भी हो गया था जिसमें वे सीएम नीतीश को लेकर बयानबाजी करते वीडियो वायरल हुआ था.नीतीश कुमार राजद से पाला बदलकर बीजेपी के साथ हो लिए तब भी उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया।लेकिन 2019 में हुए लोकसभा चुनाव के बाद जून में मंत्रिमंडल विस्तार में एक बार फिर से श्याम रजक को मंत्री बनाया गया।सीएम नीतीश कुमार ने उन्हें उद्योग विभाग की जिम्मेदारी दी। लालू के दरबार में श्याम रजक और रामकृपाल यादव की जोड़ी रहती थी जो राम-श्याम के नाम से मशहूर थी. श्याम रजक की नीतीश सरकार में ये बतौर मंत्री दूसरी पारी है.

फुलवारी से जेडीयू विधायक हैं श्याम रजक

राजद छोड़कर जेडीयू में आने वाले श्याम रजक फिलहाल पटना से सटे फुलवारी शरीफ के विधायक हैं और पार्टी में  दलित वर्ग का चेहरा भी. वो बिहार में उर्जा विभाग भी संभाल चुके हैं. वो जिस तरह से लालू के खास थे वैसे ही नीतीश के भी खास माने जाते थे.

Find Us on Facebook

Trending News