सीतामढ़ी पुलिस का बर्बर चेहरा, दो युवक को थाना ले जाकर पीटने का आरोप

सीतामढ़ी पुलिस का बर्बर चेहरा, दो युवक को थाना ले जाकर पीटने का आरोप

Sitamarhi: एक बार फिर सीतामढ़ी पुलिस के बर्बरता पूर्ण व्यवहार पर सवाल उठने लगा है. मामला जिले दो अलग अलग क्षेत्रों का है. पहला मामला नगर थाना क्षेत्र का है. जहां सोमवार की देर रात शराब के साथ पुष्पराज नामक युवक को पुलिस ने गिरफ़्तार किया था.

वहीं जब इसकी सूचना उनके परिजनों को लगी तो पुष्पराज का भाई रितुराज गाँव के एक जनप्रतिनिधि और एक व्यक्ति के साथ थाना पहुंचा. वही नगर थाना पहुंचते ही थाना प्रभारी ने पूछताछ के लिये पहुंचे परिजन और ग्रामीण को भी हाजत मे बंद कर दिया और दोनो को भी शराब का धंधेबाज़ बताकर अगले दिन जेल भेज दिया. मामला यहीं शांत नहीं हुआ इस सब के बीच पुष्प राज को नगर थाना पुलिस के द्वारा जमकर पिटाई कर दी गई.

 मामला तब उजागर हुआ जब कोर्ट परिसर में वकीलों को इस बात का पता चला. पुष्प राज ने इसकी जानकारी न्यायालय परिसर में दी और वकीलों के द्वारा जख्मी की तस्वीर ले ली गयी. वही इससे संबंधित आवेदन भी अपर ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश की अदालत में दिया गया. जिसमें पुष्प राज ने अपने साथ हुई पुलिसिया बर्बरता को लेकर इंसाफ़ की गुहार लगायी है  और इतना ही नहीं पीड़ित ने पिटाई के कारण सांस में तकलीफ़ का भी ज़िक्र किया है.  वही उसके मुताबिक़ अस्पताल में कोरोना टेस्ट तो कराया गया लेकिन चोट की जांच नहीं करायी गयी. पूरे मामले को लेकर परिजनों में आक्रोश है और वो इस बर्बरता के ख़िलाफ़ आर पार की लड़ाई के मूड में हैं. जिसको लेकर परिजनों ने बताया कि इसकी जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से डीजीपी को भी दे दी गयी है. एसपी, डीएसपी से भी गुहार लगायी गयी है. अगर इंसाफ़ नहीं मिला तो उन्हें न्यायालय पर ही भरोसा है, दूसरी ओर पीड़ित के वकील ने कहा कि इस ज़िले में पहले भी पुलिस की बर्बरता समय समय पर सामने आती रही है जिसमें हाल के दिनों में दो आरोपियो की हाजत में मौत पर बवाल भी हुआ था.

वही दूसरा मामला मेहसौल ओपी का है. जहां मंगलवार की शाम मो मुस्तफा नामक एक लड़के को पुलिस ने पूछताछ के नाम पर खिलाफत बाग से उठाया और थाने ले गई. जिसके बाद उसके साथ पुलिस वालों द्वारा बर्बरता पूर्ण व्यवहार किया गया. जब युवक अधमरे हालात में हो गया तो उसे पुलिस वाले सदर अस्पताल में भर्ती करा निकल लिए. जख्मी के पिता का आरोप है कि खिड़की खोलने के विवाद पूर्व से चला आ रहा है. जहां दूसरे पक्ष के लोगों की बात में आकर पुलिस द्वारा इस तरह की घटना को अंजाम दिया गया है. 

Find Us on Facebook

Trending News