विस अध्यक्ष ने वेल में पहुंचे RJD विधायकों को चेताया, जान लें....पहले वाला मौसम नहीं है,कुछ किया तो सख्त एक्शन लेंगे

विस अध्यक्ष ने वेल में पहुंचे RJD विधायकों को चेताया, जान लें....पहले वाला मौसम नहीं है,कुछ किया तो सख्त एक्शन लेंगे

PATNA: बिहार विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही हंगामा शुरू हो गया। विस में शराबबंदी फेल होने को लेकर विपक्षी राजद ने सवाल खड़ा किया । राजद विधायकों ने कहा कि मीडिया में यह खबर चल रही है कि बिहार में समानांतर शराब की सप्लाई हो रही। यह कहकर राजद के सारे सदस्य खड़े हो गये और हंगामा करने लगे। राजद विधायकों ने शराब के धंधे में संलिप्त थानेदार और एसपी को बर्खास्त करने की मांग किया। वहीं कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित शर्मा ने कहा कि कोई विधायक बता दे कि बिहार में हर जगह शराब नहीं मिल रही ....। इसलिए मुख्यमंत्री शराब को बैन नहीं बल्कि शराब बिक्री को खुलवायें और तीन गुणे दाम पर बिक्री करवायें। इससे राजस्व भी मिलेगा। लेकिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यह सवाल सुनने पर भड़क जाते हैं। लेकिन हकीकत यही है कि हर जगह शराब की सप्लाई हो रही और सिर्फ नुकसान बिहार का हो रहा। वहीं,शराबबंदी को लेकर राजद सदस्यों द्वारा हंगामा किये जाने पर विस अध्यक्ष ने कहा कि अगर सत्ता पक्ष और विपक्ष चाहे तो अलग से चर्चा संभव है। राजद सदस्य प्रश्न काल में हंगामा करते हुए वेल में पहुंच गए।हंगामे के बीच प्रश्ननकाल चलते रहा। हंगामा कर रहे राजद विधायकों को विस अध्यक्ष ने तल्ख लहजे में चेताया


विस अध्यक्ष ने राजद विधायकों को चेताया

राजद सदस्यों के वेल में पहुंचने और रिपोर्टर टेबल से छेड़छाड़ करते देख विस अध्यक्ष ने ने अपने तेवर तल्ख कर लिये। उन्होंने वेल में प्रदर्शन कर रहे राजद विधायकों को चेताया-अगर आपलोग रिपोटर्र टेबल को इधर-उधर किये तो हम छोड़ेंगे नहीं। अध्यक्ष ने आगे कहा कि जान लीजिए....पहले वाला मौसम नहीं है। अगर आपने नियम विरूद्ध काम किया तो सख्त एक्शन लेंगे और वैसे विधायकों को चिन्हित बाहर का रास्ता दिखा देंगे।

विस अध्यक्ष बोले-सत्ता पक्ष-विपक्ष चाहे तो अलग से चर्चा संभव

वहीं,विपक्ष के इस सवाल पर बोलते हुए संसदीय कार्य मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि सरकार ने तो अब तक नहीं कहा कि एक बोतल शराब नहीं बिक रही। हमने तो यह दावा किया है कि शराब पर सख्ती जारी रहेगी। आप लोग बताइए कि आईपीसी की धारा होने के बाद अपराध खत्म हो गया? विपक्ष के हंगामा के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि शराबबंदी सख्ती से लागू रहे इस पर अगर सत्ता पक्ष और विपक्ष चाहे तो अलग से इस पर चर्चा कराई जा सकती है। विस अध्यक्ष के इस प्रस्ताव पर विपक्ष ने सहमति जताया।

राजद विधायक ललित यादव ने प्रश्नकाल शुरू होने से पहले यह सवाल उठाया।उन्होंने मांग किया कि सदन स्थगित किया जाये। राजद सदस्य नीतीश कुमार के इस्तीफे की मांग कर रहे। विस अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा लगातार राजद सदस्यों को शांत कराने में जुटे रहे। विस अध्यक्ष ने सदन में कहा कि आपलोगों का सवाल काफी महत्वपूर्ण है औप की बात सुनेंगे। आपलोगों ने कहा है कि शराब सरकार बिकवा रही। 


Find Us on Facebook

Trending News