परैया कांड में फरार वांछित नक्सली अभियुक्त को एसएसबी की टीम ने किया गिरफ्तार, बड़ी घटना को अंजाम देने की थी तैयारी

परैया कांड में फरार वांछित नक्सली अभियुक्त को एसएसबी की टीम ने किया गिरफ्तार, बड़ी घटना को अंजाम देने की थी तैयारी

GAYA : परैया कांड में फरार चल रहे नक्सल अभियुक्त सुनील यादव जो ग्राम पींडरा  थाना डोभी  का रहने वाला है को गया डोभी एनएच 83 पर पावर ग्रिड के समीप देर रात्रि में गिरफ्तार करने में सफलता हासिल हुई है। सुरक्षा एजेंसी को सूचना मिली थी कि प्रतिबंधित संगठन भाकपा माओवादी द्वारा पीएलजीए  सप्ताह मनाने का आह्वान किया गया है, इसी के तहत फरार नक्सली की गतिविधि इस क्षेत्र में लगातार बनी हुई थी जो किसी बड़ी घटना का प्लानिंग को अंजाम देने से इससे पहले ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

 कई घटनाओं में था शामिल 

पूछताछ के दौरान इस बात को स्वीकारा की वह बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमेटी के मध्य जोन के भाकपा माओवादी के बड़े नक्सल कमांडर के संपर्क में था तथा कई थानों में इसका अपराधिक इतिहास भी रहा है। मौके पर बीबीपेसरा के कंपनी कमांडर ने बताया कि भाकपा माओवादी संगठन की गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए कंपनी के द्वारा लगातार ऑपरेशन किया जा रहा है।  इसी के तहत एक  सप्ताह के अंदर दूसरी बड़ी सफलता प्राप्त की गई है। गिरफ्तार नक्सली से प्राप्त सूचनाओं के आधार पर आगे भी ऑपरेशन जारी रखा जाएगा। वांछित नक्सली अभियुक्त सुनील यादव परैया थाना कांड संख्या 70 /16  मे शामिल था।जो कि भाकपा माओवादी द्वारा गया -अंबा स्टेट हाईवे में कपस्या ग्राम के समीप निर्माणाधीन पुल निर्माण में लगे हुए पोकलेन मशीन एवं हाईवा को जलाने एवं लेवी वसूलने के लिए धमकाने का कार्य को अंजाम दिया गया  था। पूछताछ के उपरांत आगे की कार्रवाई के लिए परैया थाना को सुपुर्द कर दिया गया।

बता दें कि सशस्त्र सीमा बल 29 वाहिनी के कार्यवाहक कमांडेंट के निर्देश पर वाहिनी मुख्यालय के उप कमांडेंट के निगरानी में एसएसबी बीबीपेसरा  के सहायक कमांडेंट के नेतृत्व में मगध यूनिवर्सिटी थाना तथा टेक्निकल सेल गया पुलिस की एक संयुक्त  टीम का गठन किया गया था। 

Find Us on Facebook

Trending News