सुपौल : हत्या के 24 घंटे बाद भी पुलिस ने दर्ज नहीं की एफआईआर, लोगों ने सड़क जाम कर किया जोरदार हंगामा

सुपौल : हत्या के 24 घंटे बाद भी पुलिस ने दर्ज नहीं की एफआईआर, लोगों ने सड़क जाम कर किया जोरदार हंगामा

सुपौल...  बलुआ थाना के ललितग्राम ओपी  पुलिस के कार्यशैली पर कई सवाल  उठ रही है। मृतक वधु दास के भाई ने ओपी प्रभारी पर गंभीर आरोप लगाया है उन्होंने कहा कि घटना 24 घंटे हो गया है, लेकिन बलुवा पुलिस ने कोई कार्रवाई  नहीं की और न ही एफआईआर दर्ज किया  है। बता दें कि शनिवार को हुई घटना को लेकर पुलिस के खिलाफ परिजनों ने भीमपुर  से छातापुर जाने वाली एनएच 91को कई घंटों तक जाम किया। पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारे भी लगाए। उस जाम में घंटों दो पहिए से चार पहिए वाहन सहित एम्बुलेंस तक फंसे हुए थे। 

घटना उधमपुर पंचायत वार्ड 8 में कल आपसी जमीनी विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच हिंसक झड़प हो गई। जिसमें एक व्यक्ति की कुदाल से काटकर खेत में ही उनके चचेरे भाई ने हत्या कर दी। मिली जानकारी अनुसार मृतक वधू दास की उम्र 42 वर्ष है।  बताया जा रहा है कि मृतक के बड़े भाई अशरफी दांत भी जख्मी हो गए है। खेत पर आर बांधने को लेकर आपसी नोकझोंक हुआ था। जिसमें मृतक के चचेरे भाई अनिल दास ने मारपीट के दौरान कुदाल से पीछे से प्रहार कर दिया। जिससे बुद्धू दास की घटनास्थल पर ही मौत हो  गई। बद्रीनाथ सादरी दास मृतक उधमपुर पंचायत के भागवत पुर का निवासी है।


घटना की जानकारी मिलते ही परिवार एवं गांव के सदस्यों में सनसनी फैल गई। जानकारी अनुसार मृतक को तीन पुत्री व दो पुत्र है।  जिसमें एक पुत्री की शादी हो चुकी है।

मालूम हो की 2 धुर जमीन को लेकर घटना हुई है। मामला 15 वर्ष से चल रहा है। मृतक को पुलिस ने अपने कब्जे में लेकर शव को पोस्टमार्टम भी कराया,  लेकिन हत्यारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज नही किया ना  गिरफ्तारी। अब सवाल खड़े होते हैं कि 24 घंटे बीत जाने के बाबजूद हत्यारों को गिरफ्तार क्यों नही किया। हत्यारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज तक नही किया। क्या इस तरह कानून व्यवस्था रहेगा तो आम लोग केसे सुरक्षित रह पाएंगे।


Find Us on Facebook

Trending News