SC में बोले रामलला के वकील, स्कन्द पुराण में है रामजन्मभूमि का जिक्र

SC में बोले रामलला के वकील, स्कन्द पुराण में है रामजन्मभूमि का जिक्र

NEW DELHI: अयोध्या के राम मंदिर बाबरी मस्जिद जमीन विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में छठे दिन सुनवाई जारी है।चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली संवैधानिक बेंच पहले हिंदू पक्षों, रामलला विराजमानऔर निर्मोही अखाड़े का पक्ष सुन रही है।आज रामलला विराजमान की तरफ से ऐतिहासिक किताबों, विदेशी यात्रियों के यात्रा वृतांतों और वेद व स्कंद पुराण की भी दलीलें कोर्ट में पेश की गईं।


छठे दिन सुनवाई शुरू होने पर राम लला विराजमान के वकील ने कहा कि राम जन्मभूमि पर स्थित किला बाबर या औरंगजेब ने तोड़ा था, वैश्विक स्तर पर लिखे गए तथ्यों में यह भ्रम है, लेकिन राम अयोध्या के राजा थे और उनका जन्म वहां हुआ था, इस पर कोई भ्रम किताबों में नहीं है। रामलला विराजमान की तरफ से वरिष्ठ वकील सीएस वैद्यनाथन ने स्कंद पुराण का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि रिवाज है कि सरयू नदी में स्नान करने के बाद रामजन्म भूमि के दर्शन का लाभ मिलता है।

रामलला के वकील के तर्कों पर सुप्रीम कोर्ट के जजों से भी सख्त सवाल पूछे गए। जजों ने पूछा कि पुराण कब लिखा गया था? सीएस वैद्यनाथन ने कहा कि यह पुराण वेद व्यास द्वारा महाभारत काल में लिखा गया था। कोई यह नहीं जानता कि यह कितना पुराना है।

Find Us on Facebook

Trending News