लालू यादव ने 10 साल तक श्याम रजक को दुआर पर चढ़ने नहीं दिया था,अब उन्हें माथे पर बैठाया जा रहा...

लालू यादव ने 10 साल तक श्याम रजक को दुआर पर चढ़ने नहीं दिया था,अब उन्हें माथे पर बैठाया जा रहा...

Patna : बिहार सरकार के मंत्री व जदयू विधायक पार्टी से निकाले जाने के बाद आज अपने पुराने घर राजद में लौट गये। तेजस्वी यादव ने उन्हें एकबार फिर पार्टी में पूरे जोर-शोर के साथ स्वागत करते हुए पार्टी की सदस्यता दिलाई। 

इधर श्याम रजक के जदयू का दामन छोड़कर राजद  में शामिल होने पर बिहार के डिप्टी सीएम व बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने राजद पर बड़ा तंज कसा है। 

सुशील मोदी ने अपने सोशल मीडिया के ट्वीटर पर ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है.... मुख्य विरोधी दल का नेतृत्व ऐसे लोग कर रहे हैं, जिनमें किसी बात को लेकर कोई गंभीरता नहीं है। वे एनडीए सरकार के तेज ढांचागत विकास की अनदेखी करते हुए उद्योग विभाग के काम आलोचना करते थे। जब उद्योग विभाग का मंत्री सरकार और पार्टी से निकाला गया, तो वे उसकी तारीफ के पुल बांधने लगे।  पता नहीं राजद पहले सही था या अब सही कह रहा है। 

डिप्टी सीएम ने आगे लिखा है.... राजद ने महागठबंधन में कोआर्डिनेशन कमेटी की मांग करने वाले बुजुर्ग दलित नेता का अपमान किया,  जबकि एक बर्खास्त मंत्री को पार्टी में शामिल कर वह दलित प्रेम का दिखावा कर रहा है। जिन्हें दस साल तक लालू प्रसाद ने दुआर पर चढ़ने नहीं दिया, उन्हें अब माथे पर बैठाया जा रहा है। राजद ने नीति और कार्यक्रमों के आधार पर चुनाव जीतने का आत्मविश्वास खो दिया है।  

सुशील मोदी ने लिखा है.....माउन्टेन मैन दशरथ मांझी की 13 वीं पुण्यतिथि पर उन्हें शत-शत नमन्। दशरथ मांझी को सम्मानित करने के लिए जिस मुख्यमंत्री ने अपनी कुर्सी छोड़ दी थी और बाद में एक मांझी को मुख्यमंत्री भी बनवाया, उसे कुछ लोग आज दलित-विरोधी बता रहे हैं। जो दल या व्यक्ति स्वार्थ के चलते हल्की बयानबाजी करते हैं, वे जनता के चित से उतर जाते हैं।

Find Us on Facebook

Trending News