लोकसभा चुनाव प्रचार दौरान कवि बने सुशील मोदी, कविता के माध्यम से विरोधियों पर साध रहे निशाना

लोकसभा चुनाव प्रचार दौरान कवि बने सुशील मोदी, कविता के माध्यम से विरोधियों पर साध रहे निशाना

PATNA : पाटलिपुत्र लोक सभा क्षेत्र के पालीगंज में आयोजित जनसभा में उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने हुंकार भरते हुए ‘‘फिर से मोदी आएगा’’ कविता सुनाकर विरोधियों पर प्रहार और नरेन्द्र मोदी की दमदार वापसी का शंखनाद किया।

फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।

खाया है न खायेगा, देश को बचाएगा।

फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।

क्यों?

क्योंकि, देश की है आन मोदी, देश की है शान मोदी,

गरीबों की है जान मोदी, हीरो की है खान मोदी,

गुरुओं की वाणी मोदी, गंगा का है पानी मोदी,

राणा की कहानी मोदी, शिवा की जवानी मोदी,

सेहत की दहाड़ मोदी, सब को पछाड़ मोदी,

सबसे आगे आएगा,

अरे फिर से मोदी आएगा।

राज कर जाएगा, फिर से मोदी आएगा।

14 में भी मोदी आया, 19 में भी आएगा,

फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।

क्यों? क्योंकि मोदी फिर से आएगा।

तुमको लगता गीदड़ मिलके, शेर को हराएंगे,

उल्लुओं का पूँछ है कि शेर डर जाएंगे,

कुत्ते चाहे कितने भौंके, हाथी हाथी होता है,

नेकी करने वालों का राम भक्त होता है, 

भक्त महादेव का, झंडा वही गाडे़गा,

देश के विरोधियों का, कपड़े वही फाडे़गा,

साम दाम दंड भेद, मोदी को मिटाओगे,

खुद श्मशान है, उसे क्या दफ्नाओगे?

फिर से मोदी आएगा, फिर से मोदी आएगा।

Find Us on Facebook

Trending News