पत्नी की मौत के बाद अपनी ही सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर भड़के जदयू विधायक, मंगल पाण्डेय से की शिकायत

पत्नी की मौत के बाद अपनी ही सरकार की स्वास्थ्य व्यवस्था पर भड़के जदयू विधायक, मंगल पाण्डेय से की शिकायत

ARARIA : कोरोना की दूसरी लहर ने बिहार के बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की कलई पूरी तरह से खोल कर रख दिया है. चरमराई स्वास्थ्य व्यवस्था ने न केवल विपक्ष को बल्कि सत्ता पक्ष को भी बोलने का मौका दे दिया है. अररिया जिले के रानीगंज के जदयू विधायक अचमित ऋषिदेव की पत्नी मंजुला देवी के इलाज के अभाव में निधन के बाद जदयू विधायक भी बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था पर मुखर होकर बोलने लगे हैं. बकायदा इसकी शिकायत उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से भी की है. 

बताया जा रहा है की अररिया सदर अस्पताल को पिछले साल ही कोरोना के पहले लहर के दौरान पीएम केयर्स फंड से छह वेंटिलेटर मिला था. लेकिन एक साल बाद भी सदर अस्पताल को मिला वेंटिलेटर ऑपरेटर के अभाव में चालू नहीं हो पाया. अगर सदर अस्पताल का वेंटीलेटर चालू रहता तो विधायक की पत्नी समेत जिले में हुए मौत के आंकड़े कम हो जाता. 

हालांकि इस मामले पर सिविल सर्जन ने कैमरा के सामने कुछ भी कहने से साफ इंकार कर दिया. लेकिन  अपनी पत्नी को खो चुके रानीगंज विधायक बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर मुखर होकर आवाज बुलंद कर रहे हैं. हालाँकि विधायक ने जिस तरीके से सिस्टम और अपने सरकार के अधीनस्थ स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया है. वह इतना कहने के लिए काफी है कि कोरोना के इस विपदाकाल मे खासकर ग्रामीण इलाकों के लोगों की स्वास्थ्य भगवान भरोसे है. 

अररिया से मंटू भगत की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News