पांचवीं बार विश्व कप जीतने के लिए पूरी तरह से तैयार है टीम इंडिया की यंग बिग्रेड, खिताबी मुकाबले में आज इंग्लैंड से होगा मुकाबला

पांचवीं बार विश्व कप जीतने के लिए पूरी तरह से तैयार है टीम इंडिया की यंग बिग्रेड, खिताबी मुकाबले में आज इंग्लैंड से होगा मुकाबला

DESK : ICC अंडर 19 विश्व कप का फाइनल मुकाबला आज खेला जाएगा। जिसमें चार बार की चैपिंयन और चार बार से लगातार फाइनल में पहुंच रही टीम इंडिया की यंग बिग्रेड खिताब जीतने के लिए इंग्लैंड से मुकाबला करेगी।  इंग्लैंड के खिलाफ शनिवार को फाइनल में यश धुल की अगुवाई में टीम इस दबदबे पर फिर से मुहर लगाने की कोशिश करेगी. नॉर्थ साउंड (एंटीगा) के सर विवियन रिचर्ड्स स्टेडियम में भारतीय समयानुसार शाम 6:30 बजे से यह मुकाबला खेला जाएगा। मैच से पहले दोनों टीमों के कप्तान ने ट्रॉफी के साथ अधिकारिक फोटोशुट में हिस्सा लिया।

सभी मैच जीतकर पहुंची है दोनों टीमें

भारत ने सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 96 रनाें से करारी मात देकर आठवीं बार फाइनल में जगह बनाई है और अब वह रिकॉर्ड पांचवीं बार खिताब जीतने से महज एक जीत दूर है। इस टूर्नामेंट में दोनों ही टीमें अब तक एक भी मुकाबला नहीं हारी है और ऐसे में फाइनल में भी जीत की लय बरकरार रखते हुए ट्रॉफी पर कब्जा जमाना चाहेगी। इसके लिए दोनों ही टीमें अपनी मजबूत प्लेइंग इलेवन को मैदान पर उतारना चाहेगी।

कोरोना संक्रमण से जूझने के बावजूद भारतीय टीम को फाइनल तक पहुंचने में कोई खास दिक्कतें नहीं आई जो खिलाड़ियों की प्रतिभा और टीम में गहराई की मिसाल पेश करती है. कप्तान यश धुल और उपकप्तान शेख रशीद संक्रमण के कारण तीन में से दो मैच नहीं खेल सके थे. धुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में शानदार शतक जड़ा. वहीं. रशीद ने भी 95 रनों की पारी खेली. टीम के लिए सबसे अच्छी बात यह है कि फाइनल तक पहुंचने में सभी खिलाड़ियों ने अपना योगदान दिया है। ऐसे में इस बात की संभावना कम ही है कि भारत अपनी प्लेइंग XI में शायद ही कोई बदलाव करे। हालांकि सलामी बल्लेबाज अंगकृष रघुवंशी और हरनूर सिंह सेमीफाइनल में चल नहीं सके और फाइनल में उन्हें अत्यधिक रक्षात्मक खेलने से बचना होगा। धुल और रशीद ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खराब शुरुआत के बाद जिस तरह से पारी को संभाला, उससे उनकी परिपक्वता नजर आई

गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन, कोहली ने भी दिया है टिप्स

बल्लेबाजी में जहां व्यक्तिगत प्रदर्शन देखने को मिला, वहीं गेंदबाजों ने एक टीम के रूप में काफी प्रभावित किया है. राजवर्धन हेंगरगेकर और रवि कुमार ने टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों को परेशान किया. वहीं विकी ओस्तवाल ने स्पिन गेंदबाजी का मोर्चा बखूबी संभाला. विकी अबतक 10.75 की औसत से 12 विकेट ले चुके हैं। अंडर-19 सितारों को सीनियर टीम के खिलाड़ियों से भी काफी कुछ सीखने को मिल रहा है. 2008 में अपनी कप्तानी में टीम को अंडर-19 खिताब जिताने वाले विराट कोहली ने भी टीम को फाइनल का दबाव झेलने का टिप्स दिया है. खिताब और भारत के बीच इंग्लैंड की टीम है जो आखिरी बाद 1998 में फाइनल में पहुंची थी, जब उसने अब तक का एकमात्र खिताब जीता था.

पांचवीं बार खिताब जीतना चाहेगी टीम इंडिया

भारत की नजरें रिकॉर्ड पांचवें खिताब पर है और मौजूदा फॉर्म को देखते हुए यह मुश्किल भी नहीं लग रहा. दूसरी ओर इंग्लैंड का इरादा भी इतिहास रचने का है. ऐसे में दोनों टीमों के बीच यह मुकाबला रोमांचक होने की उम्मीद है. भारत ने 2000, 2008, 2012 और 2018 में खिताब पर कब्जा जमाया है. वहीं इंग्लैंड ने साल 1998 में एकमात्र खिताब जीता था.

इंग्लैंड की नजरें दूसरी बार खिताब जीतने पर

अफगानिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में रोमांचक जीत के बाद अब इंग्लैंड की नजरें 24 साल से खिताब का इंतजार खत्म करने पर लगी है. टूर्नामेंट में भारत की तरह की अपराजेय रही टॉम प्रेस्ट की टीम के पास प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं. प्रेस्ट अभी तक 73 की औसत से 292 रन बना चुके हैं. जबकि तेज गेंदबाज जोशुआ बॉयडेन ने 13 विकेट लिये हैं. भारतीय बल्लेबाजों को कलाई के स्पिनर रेहान अहमद को संभलकर खेलना होगा जो बीच के ओवरों में विकेट ले रहे हैं।

भारत: यश धुल (कप्तान), हरनूर सिंह, अंगकृष रघुवंशी, शेख रशीद, निशांत सिंधू, सिद्धार्थ यादव, अनीश्वर गौतम, मानव पारख, कौशल तांबे, राजवर्धन हेंगरगेकर, विकी ओस्तवाल, गर्व सांगवान, दिनेश बाना, आराध्य यादव, राज बावा, वासु वत्स, रवि कुमार.

इंग्लैंड: टॉम प्रेस्ट (कप्तान), जॉर्ज बेल, जोशुआ बॉयडेन, एलेक्स होर्टन, रेहान अहमद, जेम्स सेल्स, जॉर्ज थॉमस, थॉमस एस्पिनवाल, नाथन बर्नवेल, जैकब बेथेल, जेम्स कोलेस, विलियम लक्सटन, जेम्स रियू, फतेह सिंह, बेंजामिन क्लिफ.


Find Us on Facebook

Trending News