तेजप्रताप यादव को पटना के रहने वाले युवक ने लगा दिया चूना, इतने रूपये लेकर फरार, शिकायत लेकर पहुंचे थाना

तेजप्रताप यादव को पटना के रहने वाले युवक ने लगा दिया चूना, इतने रूपये लेकर फरार, शिकायत लेकर पहुंचे थाना

पटना :  लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के साथ धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. मिल रही जानकारी के मुताबिक तेजप्रताप यादव ने अपनी कंपनी एलआर अगरबत्ती के लिए आशीष रंजन नाम के युवक को रखा था. पर मौके मिलते ही आशीष रंजन 71 हजार रूपये लेकर फरार हो गया. बताया जा रहा है कि आशीष रंजन पटना का रहने वाला है.

फिलहाल तेजप्रताप यादव ने पटना के एसके पुरी थाने में इसकी शिकायत की है. आशीष रंजन तेजप्रताप यादव की कंपनी एलआर अगरबत्ती में मार्केटिंग का काम देखता था. 

गौरतलब है कि बीते जुलाई महीने में तेजप्रताप यादव ने अगरबत्ती बनाने और बेचने का स्‍टार्ट-अप शुरू किया है. इस अगरबत्‍ती को बेचने के लिए बकायदा शो-रूम बनाया गया है. खास बात यह कि शो रूम किसी बड़ी ब‍िल्डिंग में नहीं, बल्कि पटना और दानापुर के लालू खटाल में है. लालू खटाल में लालू प्रसाद की गायें और भैंस रखी जाती हैं. अगरबत्‍ती का निर्माण इसी खटाल में ही होता है। इसके बाद उन्‍हें शो रूम में रखा जाता है। तेजप्रताप भी कभी-कभार यहां आते हैं। लेकिन यहां की स्थिति निगरानी वे मोबाइल से करते रहते हैं। मंदिरों में चढ़ाए गए फूलों को एकत्र कर उनसे अगरबत्‍ती बनाई जाती है। इसकी लकड़ी बांस की नहीं बल्कि नारियल के पत्‍ते की लकड़‍ियां होती हैं। कहा जाता है कि इन अगरबत्तियों में किसी रसायन का इस्‍तेमाल नहीं किया जाता है। बता दें कि यहां अलग-अलग खुशबू की अगरबत्‍ती तैयार होती है। इनका नाम कृष्‍ण लीला अगरबत्‍ती, बरसाना, सेवा कुंज आदि हैं। शो रूम में पूजा-पाठ से जुड़े अन्‍य सामान भी बिकते हैं।   

Find Us on Facebook

Trending News