तेजस्वी यादव की सभा में जुटे भीड़ पर चन्द्रिका राय ने साधा निशाना, कहा- भीड़ वोट का पैमाना नही

तेजस्वी यादव की सभा में जुटे भीड़ पर चन्द्रिका राय ने साधा निशाना, कहा- भीड़ वोट का पैमाना नही

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण का मतदान कल होना है. ऐसे में सभी नेता और प्रत्याशी जनसभा कर लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे है. तेजस्वी यादव के चुनावी सभा में जुटे भीड़ों ने सबको हैरान कर दिया है. ऐसे में जिले के परसा विधानसभा क्षेत्र से जेडीयू प्रत्याशी चंद्रिका राय जोर-शोर से चुनाव प्रचार लगे हुए थे.  चन्द्रिका राय ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर जमकर हमला बोला. वहीं, चुनाव में बहुमत से एनडीए की जीत होने की बात कही.

चन्द्रिका राय का 10 लाख नौकरी पर सवाल 

उन्होंने पूछा कि यह जो दस लाख नौकरी देने की बात कर रहे हैं, तो ये बताएं पैसा कहां से लाएंगे? बात रही चुनावी सभाओं में भीड़ की तो मैं बता दूं कि मैं भी पिछले बार लोकसभा में आरेजडी की तरफ से खड़ा था और तेजस्वी की सभा में इतनी भीड़ होती थी कि गली-मोहल्ले कहीं भी पैर रखने की जगह नहीं रहती थी. लेकिन मैं पहली बार जीवन में 8000 हजार वोट से हार गया. भीड़ वोट का पैमाना नहीं हैं.तेजस्वी यादव की ओर से 10 लाख नौकरी देने के वादे पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि रोजगार को केवल मुद्दा बनाया जा रहा है. उन्होंने ऐसे ही बक दिया है कि पहले कैबिनेट में 10 लाख नौकरियां देने का काम करेंगे. मैं भी एलान करता हूं कि आज ही 11 लाख नौकरी दे दूंगा आप मुझे मुख्यमंत्री बना दें. लेकिन ऐसा होने वाला हैं क्या ? चन्द्रिका राय ने तेजस्वी यादव के बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा ये सब महज चुनाव से पहले का लोलीपोप है. जनता को इनके झांसे में नही आना है और ना ही जनता इनके झांसे में आएगी. 

राजपूत को लेकर तेजस्वी यादव की ओर से दिए गए बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव पर इसका असर पड़ गया है. मेरे ख्याल से पिछले ही राउंड में चुनाव में ही असर पड़ गया है. इस बयान के बाद लोगों के मन में उनके प्रति भावना बन गई है कि इस तरह की बातें करने वाले लोगों को सत्ता में पहुंचाना अच्छी बात नहीं हैं. ये तो स्पष्ट हैं कि इन लोगों ने काम नहीं किया हैं. इस क्षेत्र में भी और बहुत सारी बातें हैं, जो लोग समझते हैं.

बेटी ऐश्वर्या राय की ओर से चुनाव प्रचार करने के संबंध में उन्होंने कहा कि ऐश्वर्या मेरी बेटी है और बेटी धर्म निभाते हुए वो सिर्फ मेरे लिए वोट मांग रही है. बेटी होने के नाते उन्होंने मेरे लिए चुनाव प्रचार किया. मैं तो नहीं चाहता था कि वो चुनाव करे, लेकिन उसने कहा कि नहीं मैं आपके लिए वोट मांगने जाऊंगी. ऐसे में मुझे लगता है उसको निश्चित रूप से लोगों का आशीर्वाद मिलेगा.उन्होंने कहा कि मैं परसा में 35 सालों से राजनीति में हूं. कई बार जीता, एक-दो बार हारा भी, लेकिन इस क्षेत्र को छोड़ने का काम नहीं किया. यहां के लोग मुझसे बहुत प्रभावित हैं. थोड़ी बहुत संपर्क की कमी हुई होगी, इसके कारण जो नाराजगी थी उसको दूर कर दिया गया है. 


Find Us on Facebook

Trending News