जीतनराम मांझी के बयान की ब्राह्मण समुदाय ने की कड़ी निंदा, कहा माफ़ी मांगे नहीं तो होगा आन्दोलन

जीतनराम मांझी के बयान की ब्राह्मण समुदाय ने की कड़ी निंदा, कहा माफ़ी मांगे नहीं तो होगा आन्दोलन

DARBHANGA : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी द्वारा ब्राह्मण समुदाय पर दिए गए आपत्तिजनक बयान पर ऑल बिहार ब्राह्मण फेडरेशन द्वारा विरोध जताया गया है। इसी को लेकर ब्राह्मण फेडरेशन की एक आपात बैठक फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष उदय शंकर चौधरी के बलभद्रपुर अवस्थित आवास पर बुलायी गयी। बैठक में इस तरह के बयान की निंदा की गयी तथा इसका विरोध करने का निर्णय लिया गया। 

बैठक के सम्बंध में जानकारी देते हुए ब्राह्मण फेडरेशन के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ उदभट मिश्रा ने कहा कि जीतनराम मांझी का बयान दुर्भाग्यपूर्ण है। राजनीतिक फायदे के लिए ब्राह्मणों को टारगेट करना सबसे आसान प्रचलन हो गया है। इस तरह के बयानबाजी को ब्राह्मण समुदाय बिल्कुल बर्दाश्त नही करेगा। उन्होंने कहा कि यदि जीतनराम मांझी अपने बयान के लिए सार्वजनिक माफी नही मांगते तो फेडरेशन द्वारा बड़े स्तर आंदोलन किया जाएगा और जब तक इनपर कार्रवाई नही होती, आंदोलन जारी रहेगा। बैठक में ब्राह्मण फेडरेशन के दरभंगा जिलाध्यक्ष डॉ प्रभाकर झा एवं जिला उपाध्यक्ष रंजीत झा उर्फ गगनजी, अधिवक्ता सुरेन्द्र चौधरी, देवकुमार झा भी मौजूद थे।

उधर गया में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी द्वारा ब्राह्मणों को अपशब्द कहकर बयान बाजी करने से ब्राह्मणों में काफी आक्रोश देखने को मिला। बातचीत के दौरान ब्राह्मणों ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री के द्वारा पंडितों के खिलाफ गाली देते हुए अवहेलना एवं करना महंगा पड़ेगा। बयानबाजी करना महंगा पड़ेगा। बातचीत के दौरान मुकेश कुमार पाठक, आलोक पाठक, विजय दत्त पाठक आदि ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री जिस तरह से बयान बाजी कर रहे हैं। वह काफी निंदनीय है। ऐसी बयानबाजी नहीं करनी चाहिए। 

दरभंगा से वरुण ठाकुर और गया से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News