केंद्रीय पुस्तकालय भवन की स्थिति जर्जर! नियमित देखभाल नहीं होने से टूटकर गिरने लगे छत के प्लास्टर टूटकर, अध्ययन के लिए आनेवालों की बढ़ी परेशानी

केंद्रीय पुस्तकालय भवन की स्थिति जर्जर! नियमित देखभाल नहीं होने से टूटकर गिरने लगे छत के प्लास्टर टूटकर, अध्ययन के लिए आनेवालों की बढ़ी परेशानी

NAWADA : नगर के ह्दय स्थली प्रजातंत्र चौक स्थित जिला केंद्रीय पुस्तकालय भवन की स्थिति काफी जर्जर हो गई है। कई साल से पुस्तकालय भवन की मरम्मत नहीं कराई गई है। इसके कारण छत का प्लास्टर टूटकर गिरने लगा है। बिजली वायरिंग भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। कर्मियों व विद्यार्थियों को कमरे में बैठना तक मुश्किल हो गया है। जबकि सरकार की ओर से हरेक पंचायत में पुस्तकालय भवन निर्माण कराया जा रहा है। साथ ही पुराने पुस्तकालय भवन को दुरुस्त करने का कार्य चल रहा है। साथ ही पुस्तकालय में पठन-पाठन सामग्री भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं। लेकिन नवादा केंद्रीय पुस्तकालय के जीर्णोद्वार को लेकर कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। 

बता दें कि नवादा जिले में प्रजातंत्र चौक स्थित मात्र एक केंद्रीय पुस्तकालय है। सरकार की ओर से शुरुआती दौर में दो मंजिला पुस्तकालय भवन का निर्माण कराया गया था। केंद्रीय पुस्तकालय में पुस्तकालय अध्यक्ष सह सचिव के रूप में वर्ष 1997 से विनय शंकर व एक नाइट गार्ड कार्यरत हैं। पुस्तकालय अध्यक्ष ने बताया कि वर्ष 2008 में तत्कालीन जिलाधिकारी पंकज कुमार की पहल पर भवन का मरम्मती कार्य कराया गया था। इसके बाद से पुस्ताकलय जीर्णोद्वार का कार्य नहीं कराया गया है। भवन पुराना होने के कारण छत का प्लास्टर अपने-आप टूटकर गिरता है। बिजली वायरिंग भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। कमरे में बैठना मुश्किल हो गया है। किसी भी समय घटना घट सकती है। 

सुधार के लिए मिला था आश्वासन

पुस्तकालय का जीर्णोद्वार कराने का आश्वासन दिए थे। लेकिन अबतक कोई कार्य नहीं हो सका है। भवन की स्थिति जर्जर रहने से काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। उन्होंने जिलाधिकारी से केंद्रीय पुस्तकालय का निरीक्षण कर जीर्णोद्वार कराने की मांग की है।


Find Us on Facebook

Trending News