खिलजी ने जिस ऐतिहासिक नालंदा यूनिवर्सिटी को जलाया, सीएम नीतीश ने उस गौरव को पुनर्जीवित किया : संजय कुमार झा

खिलजी ने जिस ऐतिहासिक नालंदा यूनिवर्सिटी को जलाया,  सीएम नीतीश ने उस गौरव को पुनर्जीवित किया : संजय कुमार झा

PATNA : बिहार की सत्तासीन पार्टी जदयू द्वारा बिहार विधान सभा चुनाव की पुरजोर तैयारी जारी है। पार्टी के नेताओं द्वारा ताबड़तोड़ वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से कार्यकर्ताओ को संबोधित किया जा रहा है। सबसे बड़ी बात यह है कि हर मीटिंग और सम्मेलन में सिर्फ और सिर्फ सीएम नीतीश कुमार का गुणगाण किया जा रहा है।

आज जदयू के विधानसभावार वर्चुअल सम्मेलन के तहत गुरुवार को नालंदा और हिलसा विधानसभा क्षेत्रों के पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के साथ फेसबुक लाइव और डेडिकेटेड ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से वर्चुअल संवाद किया गया।

इस दौरान जदयू के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्य के जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने सीएम नीतीश कुमार का गुणगान करते हुए कहा कि प्राचीन एवं विश्वप्रसिद्ध नालंदा विश्वविद्यालय बिहार के गौरवशाली अतीत का प्रतीक है। जिस तुर्क आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी ने इसे जला कर तहस-नहस कर दिया था, उसके बारे में कुछ इतिहासकारों का मत है कि वह बख्तियारपुर शहर में रहता था। 

उन्होंने कहा कि विधि की विडंबना देखिए कि करीब आठ सौ साल बाद उसी बख्तियारपुर शहर में पैदा हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उस प्राचीन गौरव को पुनर्जीवित करने का निश्चय किया। 2006 में उनके द्वारा शुरू किये गये प्रयासों के परिणामस्वरूप 2010 में नालंदा विश्वविद्यालय एक्ट संसद से पास हुआ और 2014 से वहां फिर से पढ़ाई शुरू हो गई। आज फिर से कई देशों के विद्यार्थी नालंदा विश्वविद्यालय में अध्ययन कर रहे हैं। बिहार के इस ऐतिहासिक गौरव को फिर से संजोने के बारे में 2005 तक किसी सरकार ने सोचा तक नहीं।

संजय झा ने कहा कि बिहार में पहली बार ‘गंगा जल उद्वह’ जैसी अतिमहत्वाकांक्षी योजना पर काम 15 प्रतिशत से अधिक हो चुका है, जिसमें गंगा जल को बरसात के चार महीनों में पाइपलाइन के जरिये लिफ्ट कर, उसे शोधित करके गया, बोधगया, राजगीर और नवादा शहरों में सालोभर पेयजल के रूप में घर-घर पहुंचाया जायेगा। ऐसी अभिनव योजना के बारे में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी जैसा दूरदर्शी नेता ही सोच सकता है।

Find Us on Facebook

Trending News