बीपीएससी पेपर लीक में गया के पूर्व डीएम तक पहुंची जांच की आंच, पूछताछ के लिए बुला सकती है ईओयू

बीपीएससी पेपर लीक में गया के पूर्व डीएम तक पहुंची जांच की आंच, पूछताछ के लिए बुला सकती है ईओयू

GAYA/PATNA : बिहार में बीपीएससी की 67वीं प्रारंभिक परीक्षा के पेपर लीक मामले में ईओयू की जांच गया के पूर्व डीएम अभिषेक सिंह तक पहुंच गई है। बताया जा रही है कि ईओयू उन्हें पूछताछ के लिए बुला सकता है, जिसमें डीएम से यह जानने की कोशिश की जाएगी कि किस आधार पर बिना मान्यतावाले कॉलेज में बीपीएससी के सेंटर दिए जाते थे।  बीपीएससी प्रश्न पत्र लीक मामले में आर्थिक अपराध इकाई(ईओयू) की एसआईटी की टीम यह पता लगाने में जुटी है कि गया के राम शरण सिंह इवनिंग कॉलेज में परीक्षाओं का सेंटर बनाने की अनुशंसा किसने की थी।

इससे पहले जांच टीम पूर्व डीएम के ओएसडी से पूछताछ कर चुकी है। ईओयू की पूछताछ में तत्कालीन ओएसडी भी यह नहीं बता पाए कि किसकी अनुशंसा पर शक्ति कुमार के कॉलेज में वर्ष 2019 से लगातार परीक्षाओं के सेंटर बनाए जा रहे थे। जबकि गया जिले के तत्कालिक डीईओ ने यह साफ कर दिया था कि सेंटरों की सूचि के लिए अनुशंसा डीएम ऑफिस से की गई थी।

बता दें कि एक माह पहले ईओयू ने जांच के बाद यह खुलासा किया था कि बीपीएससी के पेपर लीक गया के डेल्हा स्थित रामशरण सिंह इवनिंग कॉलेज से किए गए थे। यह काम खुद कॉलेज के प्रिंसिपल शक्ति कुमार ने किए थे। जबकि इस कॉलेज को मान्यता भी नहीं थी। लेकिन इसके बावजूद चार साल से सभी महत्वपूर्ण परीक्षाओं के सेंटर यहां दिए जाते रहे हैं। जांच में यह बात भी सामने आई है कि तत्कालीन डीएम के कार्यकाल में ही शक्ति को हथियार के लाइसेंस भी दिए गए थे, जिसे अब रद्द किया गया है।


पूर्व डीएम पर पहले से कई आरोप

गौरतलब है कि गया के तत्कालीन डीएम अभिषेक सिंह के खिलाफ स्पेशल विजिलेंस यूनिट ने इसी वर्ष मई में भ्रष्टाचार के आरोप में मुकदमा दर्ज किया है। उनपर डीएम आवास में लगे कीमतों पेड़ों को कटवाकर कथित तौर पर बेचने का आरोप है। सूत्रों की मानें तो शक्ति कुमार के कॉलेज में सेंटर बनाने के मामले में जरूरत पड़ने पर ईओयू की एसआईटी अभिषेक सिंह से भी पूछताछ कर सकती है।

Find Us on Facebook

Trending News