BAO की जान लेने से पहले अकाउंट खाली करने की जुगत में थे हत्यारे, नेट बैंकिंग पिन पूछने के लिए किया था टार्चर,पर...

BAO की जान लेने से पहले अकाउंट खाली करने की जुगत में थे हत्यारे, नेट बैंकिंग पिन पूछने के लिए किया था टार्चर,पर...

PATNA: पटना जिले के मसौढ़ी प्रखंड के कृषि पदाधिकारी अजय कुमार की हत्या से पहले अपराधियों ने इंटरनेट बैंकिंग का पिन जानने की हर कोशिश की लेकिन बीएओ ने नंबर नहीं बताया। दरअसल अपराधी हत्या करने से पहले उनके बैंक अकाउंट से पूरा पैसा साफ करना चाहते थे।अपराधियों ने अधिकारी की जान ले ली लेकिन उन्होंने मिंह नहीं खोला। बता दें प्रखंड कृषि पदाधिकारी को 18 जनवरी को ही अपहरण कर लिया गया था। उनका शव 24 जनवरी को नदी किनारे से बरामद हुआ था।  

बदमाशों को रिमांड पर लेने के बाद मिली जानकारी 

 इस हत्याकांड में शामिल अपराधियों की निशानदेही पर पुलिस ने बीएओ का शव बरामद किया था। लेकिन एक अपराधी टुटु पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया था। अन्य आरोपियों के पकड़े जाने के बाद उसने कोर्ट में सरेंडर किया था। पुलिस ने उसे 24 घंटे की रिमांड पर लिया था। उसकी निशानदेही पर बीएओ का मोबाइल कंकड़बाग में एक झाड़ी से बरामद किया गया है। कंकड़बाग पुलिस का कहना है कि पुलिस को गच्चा देने के लिए घटना में शामिल बदमाशों ने काफी दिमाग लगाया था। मोबाइल को कंकड़बाग थाना क्षेत्र में ही झाड़ में फेका गया था. रिमांड में लिये जाने के बाद टुटु ने मोबाइल के बारे में पुलिस को बताया जिसके बाद अधिकारी के मोबाईल को बरामद कर लिया गया है।

पैसा ट्रांसफर करना चाहते थे बदमाश

पुलिस का कहना है कि रिमांड में टुटु ने बताया है कि बीएओ अजय कुमार के बैंक में दो खाते थे। दोनों खातों के पैसे को बदमाश ऑनलाइन बैंकिंग से ट्रांसफर करना चाहते थे। इसके लिए अजय को मारने के पहले कई बार टॉर्चर भी किया गया लेकिन उन्होंने मुंह नहीं खोला। पुलिस ने दोनों बैंक अकाउंट की पड़ताल की लेकिन उनमें से पैसा ट्रांसफर नहीं किया गया है। टुटु ने पुलिस को बताया कि कृषि पदाधिकारी को पहले से ही जाल में फंसा लिया गया था जिस कारण से वह घर में भी कोई बात नहीं कह पा रहे थे।

बदमाशों ने 18 जनवरी को किया था अपहरण 

बता दें, मसौढ़ी प्रखंड के कृषि पदाधिकारी अजय कुमार को 18 जनवरी को अपहरण कर लिया गया था।  24 जनवरी को उनका शव गौरीचक थाना के साहेबनगर स्थित मोरहर नदी के किनारे गड्‌ढे से बरामद हुआ था। 24 जनवरी को ही पुलिस ने मुख्य आरोपी गोलू को गिरफ्तार कर लिया था। अगले दिन 25 जनवरी को पुलिस ने दो अन्य आरोपियों पवन उर्फ लालू और आकाश उर्फ छोटू को भी अरेस्ट किया था।

Find Us on Facebook

Trending News