इस गांव के मुहाने पर आकर खत्म हो जाते हैं विकास के रास्ते, न आज तक शौचालय बना, न सीएम के नल जल का फायदा, पानी भरने जाते हैं कोसों दूर

इस गांव के मुहाने पर आकर खत्म हो जाते हैं विकास के रास्ते, न आज तक शौचालय बना, न सीएम के नल जल का फायदा, पानी भरने जाते हैं कोसों दूर

GAYA :  मोहनपुर प्रखंड के टेसवार पंचायत के कई ऐसे गांव हैं जहां नल जल और नाली गली के अलावे प्रधानमंत्री आवास योजना का कार्य अधूरा है। वही बनाही  गांव के ग्रामीणों ने अपना दर्द सुनाते हुए कहा की मुखिया जी दस वर्षों से अपने पद पर बने हुए हैं लेकिन हमलोगों के गांव में उन दस वर्षों में कोई भी बदलाव नहीं हुआ, आज भी हमलोग आवास योजना के लिए दर-दर भटक रहे हैं।

इस गांव की हालत ऐसी है कि  किसी तरह झुग्गी झोपड़ियों में अपने  बाल बच्चे को गुजर-बसर कर रहे हैं। गांव के चारों ओर गंदगी का भरमार लगा हुआ है, नालें का  पानी भी रास्ते पर गिर रही है,और गंदगी से कई तरह की बीमारियां पनप रही है। लेकिन इसका सुध तक लेने वाला कोई नहीं, सिर्फ चुनाव के वक्त मुखिया जी वोट मांगने आते हैं उसके बाद 5 वर्षों तक नजर नहीं आते। 

वही टेसवार गांव के ग्रामीणों ने बताया कि हमलोग के गांव में आज तक नल जल का कार्य नहीं हुआ बल्कि पाइप तक नहीं बिछाई गई। पानी की समस्या से निजात नहीं मिल रही है,महिलाओं ने कहा कि शौच के और पानी के किये कुछ दूर जाना पड़ता है पूरे गांव में किसी को नही मिला शौचालय। जिस कारण  बहुत दिक्कत है।सरकार आज भी जान बुचकर हमलोगों पर ध्यान नही दे रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News