पति-पत्नी को अलग करने की पुलिस ने की कोशिश, नाराज गांववालों ने पुलिस को ही बना लिया बंधक, घंटों तक चला ड्रामा

पति-पत्नी को अलग करने की पुलिस ने की कोशिश, नाराज गांववालों ने पुलिस को ही बना लिया बंधक, घंटों तक चला ड्रामा

KATIHAR : मियां बीवी के इश्क के तकरार को सुलझाने पहुंचे पुलिसवाले को ही बंधक बना लिया गया।  देर रात मचे  हंगामे के बाद  किसी तरह गांव के प्रबुद्ध लोगों के पहल से  मामला सुलझाया गया।

मनिहारी थाना क्षेत्र के बौलिया गांव से जुड़े देर रात की इस मामले के बारे में बताया है जा रहे हैं कि सेमापुर थाना क्षेत्र के वैसा गोविंदपुर  सहरिया गांव के तौहीद ने मनिहारी बौलिया के यास्मीन से प्यार हो गया था और दोनों निकाह कर लिया था मगर तोहिद के घरवाले इस निकाह के खिलाफ थे, उन लोगों ने अपने ही गांव में तौहीद को दूसरी निकाह करवा दिया, दूसरी निकाह के 6 महीना बाद तोहिद एक बार फिर से अपनी पहली पत्नी यासमीन से मिलने मनिहारी के बौलिया गांव आ गया मगर तौहीद के पिता जमशेद सेमापुर थाना में अपनी बेटा का अपहरण का मौखिक जानकारी देते हुए पुलिस के साथ लेकर देर रात मनिहारी थाना के बौलिया गांव पहुंचकर जबरन अपने बेटे को पुलिस की मदत से ले जाने लगे जिस पर ग्रामीण भड़क गए,

 ग्रामीण प्रतिनिधियों के माने तो इससे पहले भी इस मामले को लेकर पंचायती हुआ था लेकिन लड़का के पिता और सेमापुर के प्रतिनिधियों ने पंचायती में रुचि नहीं दिखाया था, लड़की बेहद गरीब परिवार के हैं और उसका पिता भी नहीं है ऐसे में लड़का के पिता के मिलीभगत से पुलिस के रवैए पर भी सवाल उठाते हुए ग्रामीणों ने कई घंटों तक सेमापुर थाना पुलिस के गाड़ी को बंधक बनाकर रखा।

 बाद में मनिहारी पुलिस पहुंचने के बाद समझा-बुझाकर किसी तरह मामले को शांत करवाया गया, पूरे मामले पर सेमापुर थाना से आए पुलिस अधिकारी विवेक कुमार और स्थानीय बौलिया के मुखिया मोहम्मद जर्जिस आलम ने भी मामले की पुष्टि किया है। 

वहीं मोहम्मद तौहीद की जो अपनी पहली पत्नी यासमीन से मिलने आया था उन्होंने भी उनको ससुराल से जबरदस्ती पुलिस के द्वारा देर रात ले जाने की बात कह रहे है, पूरे मामले पर सेमापुर पुलिस पर पक्षपात का आरोप लग रहा है देर रात दूसरे थाना क्षेत्र में बगैरा स्थनीय थाना को सूचना देकर इस कार्यवाही से सेमापुर पुलिस के रवैया पर सवाल उठ रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News