दरभंगा मंडल कारा में कैदी की मौत का खुला राज, महज पांच हजार रुपया रंगदारी नहीं देने पर हुई हत्या

दरभंगा मंडल कारा में कैदी की मौत का खुला राज, महज पांच हजार रुपया रंगदारी नहीं देने पर हुई हत्या

DARBHANGA : दरभंगा मंडल कारा इन दिनों हत्या, रंगदारी और मारपीट के आरोपों को लेकर चर्चित है। अभी कुछ दिन पहले शराब मामले में बंद एक कैदी कृष्णा साहू की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई थी। उसके पूरे शरीर पर गंभीर चोट के निशान थे। यह मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा है कि हत्या के आरोप में बंद एक अन्य कैदी रवि सिंह ने पांच लाख रुपये रंगदारी मांगने और नहीं देने पर उसकी हत्या की धमकी दिए जाने का आरोप लगाया है। रवि सिंह ने इसको लेकर न्यायालय से लिखित शिकायत की है। दरभंगा कोर्ट में सुनवाई के लिए पहुंचे कैदी रवि सिंह ने मीडिया के सामने भी अपनी बात रखी। 

कैदी रवि सिंह ने कहा कि जेल के कैंटीन संचालक प्रभाष यादव और एक दबंग कैदी शमीम बेग उससे 5 लाख रुपये की रंगदारी मांग रहे हैं। नहीं देने पर उसके भाई विक्रम सिंह समेत उसकी हत्या करने की धमकी दे रहे हैं। उसने कहा कि इसके पहले एक कैदी कृष्णा साहू की हत्या पांच हजार रुपये रंगदारी देने पर इन्हीं लोगों ने पीट-पीट कर कर दी थी। उसने बताया कि जेल में पैसे के लिए कैदियों को प्रताड़ित किया जाता है। कैदियों के साथ मारपीट की जाती है और उनसे मैला साफ कराया जाता है। उसने बताया कि अपने वकील के माध्यम से उसने न्यायालय से इस मामले की लिखित शिकायत की है। 

कैदी रवि सिंह के वकील वीरेंद्र नाथ झा ने बताया कि हत्या के मामले में जेल में बंद कैदी रवि सिंह ने उससे पांच लाख रुपये रंगदारी मांगे जाने और नहीं देने पर उसकी हत्या करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि रवि सिंह ने इसको लेकर लिखित शिकायत की है जिसे रजिस्टर कराया जा रहा है। 

बता दें कि कुछ दिनों पहले जेल के एक कैदी कृष्णा साहू की डीएमसीएच में इलाज के दौरान संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई थी। वह केवटी के बनवारी गांव का रहनेवाला था और शराब से जुड़े एक केस में बंद था। उसके परिजनों ने पांच हजार रंगदारी मांगने और नहीं देने पर उसकी पीट-पीट कर हत्या कर देने का आरोप प्रभाष यादव और शमीम बेग पर ही लगाया था। इसको लेकर फिलहाल दरभंगा मंडल कारा चर्चा में है। 

दरभंगा से वरुण ठाकुर की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News