नाबार्ड से 8.5 करोड़ की लागत से बनी सड़क 800 दिन भी नहीं टिकी, चढ़ी भ्रष्टाचार की भेंट

नाबार्ड से 8.5 करोड़ की लागत से बनी सड़क 800 दिन भी नहीं टिकी, चढ़ी भ्रष्टाचार की भेंट

GAYA : जिले के ईमामगंज प्रखण्ड के लावाबार पंचायत के ग्राम बघौता बाहा नदी पर नाबार्ड योजना के तहत करीब 8.50 करोड़ की लागत से बना पुल, 800 दिन भी नहीं टिक पाई। बतादें कि यह सड़क बिहार एवं झारखंड राज्य को जोड़ती है। ठीक पुल चढ़ने वाली पुल से लगी पिच सड़क ग्राम बाहा के निकट धंस चुकी है। जिसके कारण दोनों राज्यों से आने जाने वालों लोगों की परेशानी बढ़ गई है। स्थानीय लोग इस सड़क की मरम्मती के साथ घटिया निर्माण में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। 

इस संबंध में स्थानिय ग्रामीण नाहिद खान ने बताया के जब सड़क का निर्माण हो रहा था,तभी ठेकेदार के कर्मी व जेई द्वारा पिछड़ा क्षेत्र और नक्सली क्षेत्र समझ कर मनमानी ढंग से कार्य कर दिया गया। जो आज जनता के लिए दुर्घटना का भय बना है। उन्होंने बताया के टूटी सड़क में देखा जा सकता है, जीएसबी की मात्रा शून्य है। नदी की बलवाही मिट्टी और बालू मिक्स कर के डाल दिया गया है। जो जाँच का विषय है। उन्होंने बताया के ठेकेदार और जेई द्वारा इतनी ही साजिश नही रची गई पुल के छोर पर किसी तरह का कोई सपोर्ट नही दिया गया है,जो दोनों तरफ खाई है।

 ग्रामीण नाहिद खान ने बताया के इसपर निष्पक्ष रूप से जाँच होनी चाहिए ,और जिला प्रशासन को जांच कर इसके विरुद्ध करवाई करते हुए ,इनके लाइसेंस को रद्द कर टूटी सड़क की मरम्मती कराने की ज़रूरत है।

Find Us on Facebook

Trending News