बालू की अवैध तस्करी रोकने गई पुलिस को तस्करों ने गांववालों के साथ घेरा, की फायरिंग, इस तरह बची पुलिसवालों की जान

बालू की अवैध तस्करी रोकने गई पुलिस को तस्करों ने गांववालों के साथ घेरा, की फायरिंग, इस तरह बची पुलिसवालों की जान

AURANGABAD : जिले में बालू की अवैध तस्करी पर लगाम लगाने के लिए हाल में ही पुलिस महकमे में बड़ा फेरबदल किया है। लेकिन बालू माफियाओं पर इसका कोई असर होता नजर नहीं आ रहा है। रेत के अवैध ढूलाई बदस्तूर जारी है। वहीं बालू माफिया के हौंसले इतने बुलंद हैं कि वह अब पुलिस पर भी हमला करने से पीछे नहीं होते हैं। मामला रफीगंज थाने का है, जहां कजपा नदी के ईंट भट्ठा के पास अवैध ढंग से ओवरलोड बालू लाए जाने की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम पर गोलीबारी की घटना सामने आई है। हालांकि इस गोलीबारी में कोई पुलिसकर्मी हताहत नहीं हुआ है। वहीं इस कार्रवाई के दौरान बालू लदे तीन ट्रैक्टर के साथ दो शातिर बालू तस्करों को हिरासत में लिया गया है। 

इस कार्रवाई को लेकर प्रभारी थानाध्यक्ष भगवान सिंह ने बताया कि कजपा ईंट भट्ठा के पास अवैध ढंग से बालू ढोया जा रहा था। सूचना के सत्यापन हेतु छापामारी दल का गठन किया गया। जिसमें एएसआई कृपाल जस्तुस खाखा, शहजाद अख्तर अपने पुलिस बल के साथ कजपा नदी के पास गए। नदी के पास ईंटा भट्टा पर पुलिस बल पहुंची देखा कि भट्ठा पर तीन ट्रैक्टर बालू लोड छिपाकर रखा हुआ है। ट्रैक्टर के टेलर पर नंबर अंकित नहीं है। तीनों ट्रैक्टर पर ओवरलोड बालू था, वहां से सभी लोग गायब थे, तीनों ट्रैक्टर को विधिवत जब्त किया गया, रात अत्यधिक होने के कारण ट्रैक्टर को थाना लाना ठीक नहीं समझा तीनों ट्रैक्टर के ड्राइवर की काफी खोजबीन की गई लेकिन पता नहीं चला।  दो दूसरा ट्रैक्टर चालक मिला जिसके माध्यम से दो ट्रैक्टर को ईट भट्ठा से किसी तरह निकाल कर सड़क पर लाया गया। रात में दो ट्रैक्टर को रफीगंज भेजा गया एवं एक ट्रैक्टर का चालक नही मिलने के कारण पुलिस निगरानी में रखा गया।


बालू तस्करों ने गांव वालों की मदद से पुलिस को घेरा

 इसी बीच रात में ट्रैक्टर के आगे स्कॉर्पियो गाड़ी लगाकर उसमें से चार व्यक्ति उतरे चारों व्यक्ति अपने आप को पुलिस पदाधिकारी एवं जनप्रतिनिधि का भय बनाकर ट्रैक्टर छोड़ने का दबाव देने लगे, पुलिस द्वारा इंकार करने पर  उग्र होकर पुलिस को हटने  को कहा और गाली गलौज करने लगे। कजपा गांव में तेज आवाज देकर ग्रामीणों को बुलाया गया, 25 से 30 ग्रामीण लाठी-डंडे से लैस सभी पुलिसकर्मियों को चारों तरफ से घेर लिया, और ट्रैक्टर को ले जाने का प्रयास किया। पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल के साथ धक्का-मुक्की करने लगा एवं मारने पर उतारू हो गए। 

मंगवाना पड़ा अतिरिक्त पुलिस फोर्स, तब बची जान

पुलिस अपने आप को गिरते देख रफीगंज थाना से और अतिरिक्त पुलिस पदाधिकारियों पुलिस बल को मंगवाया एएसआई दिलीप मंडल पुलिस बल के साथ पहुंचे तब तक ग्रामीण ट्रैक्टर से बालू गिराकर नदी की ओर ट्रैक्टर ले गए और एक गढ़ा में गिरा दिए रफीगंज से और पुलिस बल को आते देख गोलीबारी करते हुए भागने लगे, भाग रहे लोगों को पुलिस बल ने पीछा किया गया जिसमें से दो लोग पकड़े गए जिसमें अपना नाम कजपा गांव के राम लखन सिंह के पुत्र डब्लू सिंह एवं दूसरा फेसर थाना के बकान गांव के अरविंद सिंह के पुत्र बिट्टू कुमार बताया गया। पूछताछ के दौरान उन्होंने   बताया कि दो ट्रैक्टर कजपा के सुबोध सिंह एवं एक मुन्ना सिंह का है। सभी सोन नदी से अवैध बालू लाकर ट्रैक्टर से बिक्री करते हैं। 

गांव वालों के खिलाफ मामला दर्ज

इस मामले में एएसआई अजय कुमार सिंह के बयान पर अवैध रूप से बालू की चोरी कर बिक्री करने ,फायरिंग करने, पुलिस बल के साथ गाली गलौज करने एवं सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में कजपा गांव के डब्लू सिंह, बकान गांव के बिट्टू सिंह, सुबोध सिंह, मिथुन सिंह, मुन्ना सिंह एवं कजपा गांव के विवेक कुमार, मुन्ना सिंह, अभिषेक कुमार एवं तीनो ट्रैक्टर के मालिक एवं चालक तथा 20 , 25 अज्ञात के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज किया गया। जिसमें तीन ट्रैक्टर जब्त कर डब्लू सिंह एवं बिट्टू कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।


Find Us on Facebook

Trending News