परिवार को लाभ पहुंचाने के मामले में PHC प्रभारी के कार्यकलापों की जांच के लिए पहुंची टीम, जानिए क्या मिला

परिवार को लाभ पहुंचाने के मामले में PHC प्रभारी के कार्यकलापों की जांच के लिए पहुंची टीम, जानिए क्या मिला

NAUGACHHIA : नवगछिया पीएचसी में प्रभारी के विरूद्ध सोसल मीडिया में सामने आए आरोपों के मद्देनजर भागलपुर सीएस द्वारा गठित टीम द्वारा मामले की जांच गयी. टीम में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ मनोज कुमार चौधरी, एसीएमओ डॉ अंजना कुमारी, जिला यक्ष्मा पदाधिकारी डॉ दीनानाथ, जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ फैजान आलम अशर्फी, जिला लेखा प्रबंधक विकास कुमार शामिल थे.

 टीम के सदस्यों ने दोपहर 12 बजे से लेकर शाम छः बजे तक  नवगछिया पीएचसी में जांच किया. जानकारी मिली है कि इस क्रम में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ बरुण, पीएचसी कर्मियों से भी पूछताछ की गयी और विभिन्न अभिलेखों का भी अवलोकन किया गया. 

मालूम हो कि मीडिया में आरबीएसके योजना में भाड़े पर वाहन लेने की प्रक्रिया और कोरोना वैक्सीनेशन में उत्प्रेरक के रूप में सगे संबंधियों को लाभ पहुंचाने का आरोप पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी पर लगाया गया था। जबकि इसी क्रम में यह बात भी सामने आयी थी कि पीएचसी से परिवार नियोजन की अंतरा योजना से संबंधित जानकारी को भी लीक किया गया जिससे कई महिलाओं की निजी जानकारी सार्वजनिक हो गयी।

एसीएमओ डॉ अंजना ने जांच के बाद मीडिया कर्मियों को जानकारी देते हुए कहा कि मीडिया में सामने आयी सभी तरह के तथ्यों की जांच की गयी है. रिपोर्ट से संबंधित पदाधिकारी को अवगत कराया जाएगा. मौके पर पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ बरुण कुमार, स्वास्थ्य प्रबंधक ओम गुप्ता समेत अन्य भी मौजूद थे.

Find Us on Facebook

Trending News