बिहार के तीन निगम कर्मियों के 25 साल का इंतज़ार खत्म, शुरु हुआ 106.90 करोड़ रुपए के लंबित वेतन का भुगतान

बिहार के तीन निगम कर्मियों के 25 साल का इंतज़ार खत्म, शुरु हुआ 106.90 करोड़ रुपए के लंबित वेतन का भुगतान

PATNA : बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने गुरुवार को उद्योग विभाग के तीन निगमों के 848 कर्मियों की वर्षों पुरानी मुराद पूरी कर दी। करीब 25 साल बाद उद्योग विभाग के तीन निगमों के 848 कर्मियों के कुल 106.90 करोड़ के लंबित वेतन का भुगतान उद्योग विभाग ने शुरु कर दिया है। पहली किस्त के रुप में तीन निगमों के 848 कर्मियों के कुल 29.85 करोड़ रुपए के लंबित वेतन का भुगतान उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने गुरुवार को उद्योग भवन सभागार में आयोजित एक समारोह में कर दिया और बाकी बचे 77.05 करोड़ का भुगतान भी जल्द RTGS के जरिए जल्द किया जाएगा। बिहार राज्य हस्तकरघा एवं हस्तशिल्प निगम, बिहार राज्य वस्त्र निगम और बिहार राज्य औषधि एवं रसायन विकास निगम के कर्मियों का वेतन करीब 25 साल से लंबित था। निगमों के कर्मियों के लंबित वेतन भुगतान कार्यक्रम में बिहार राज्य हस्तकरघा एवं हस्तशिल्प निगम के 370 कर्मचारियों को कुल 14 करोड़ रुपए की राशि प्रथम किस्त के रुप में दी गई है तो बिहार राज्य औषधि एवं रसायन विकास निगम के 324 कर्मचारियों को कुल 11.6 करोड़ रुपए की राशि लंबित वेतन के पहली किस्त के रुप में निर्गत की गई हैं। वहीं बिहार राज्य वस्त्र निगम के 54 कर्मचारियों के पक्ष में 4.25 करोड़ रुपए लंबित वेतन के भुगतान के रुप में दिया गया है। 

कार्यक्रम में उपस्थित तीनों निगमों के कर्मचारियों को वेतन सौंपने के बाद उऩ्हें संबोधित करते हुए बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि नीतीश कुमार की सरकार ने करीब 25 साल की नाइंसाफी को इंसाफ में बदला है। उन्होंने कहा कि अभी 29.85 करोड़ का भुगतान किया गया है और बाकी बचे वेतन और पीएफ के भुगतान के लिए भी 77.05 करोड़ रुपयों का आवंटन हो गया है, इसका वितरण जल्द किया जाएगा। हम बिहार में उद्योगों के विकास और पूंजी निवेश को बढ़ावा देने के साथ विभाग के कर्मियों की भी चिंता कर रहे हैं। उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नारा है न्याय के साथ विकास तो आज उद्योग विभाग के जरिए न्याय हुआ है। उन्होंने कहा कि आज 29 करोड़ की जो रकम दी गई है, वो बिहार को अपनी सेवा देने वाले कर्मचारियों का हक है और आगे भी वो इसका ध्यान रखेंगे कि कर्मचारियों का जो हक है, वो उन्हें जरुर मिले। करीब 25 साल से लंबित वेतन का भुगतान पाने वाले कर्मचारियों ने भी बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन के हाथों चेक और वेतन विपत्र पाकर अत्यंत खुशी जाहिर की । उन्होंने कहा कि उनके लिए यकीन करना मुश्किल है कि जिसका इंतजार वो वर्षों से कर रहे थे, आज वो सच साबित हुआ। लंबे अरसे के बाद वेतन पाने वाले खासकर बुजुर्ग और महिला कर्मियों ने बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन को हृदय से धन्यवाद दिया और उनके लिए दुआएँ की।  

बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने गुरुवार को बिहार की महिला उद्यमियों के संगठन WECS (Women Entrepreneur’s Cooperative Society) के तीसरे स्थापना दिवस कार्यक्रम में भी हिस्सा लिया और पूरे राज्य से आईं महिला उद्यमियों को संबोधित किया। इस मौके पर बिहार के उद्योग मंत्री ने कहा कि तीज के मौके पर बिहार की महिला उद्यियों का ये संगम अनूठा है। जिन्हें बिहार में उद्योग नहीं दिखता, जो बिहार को कमतर आंकते हैं, उनके लिए महिला उद्यमियों का ये कार्यक्रम बहुत बड़ा संदेश है। बिहार की महिलाएं घर - परिवार - परंपराओं को निभाते हुए आज उद्यमी बनकर रोजगार सृजन का काम रही हैं, मैं पूरे विश्वास से कहता हूं कि बिहार के महिलाएं पूरे देश के लिए मिसाल हैं। WECS के तीसरे स्थापना दिवस कार्यक्रम में शरीक हुई महिला उद्यमियों ने कहा कि उन्होंने अपने परिवार में साबित कर दिया है कि वो उद्योग भी खड़ा कर सकती हैं, रोजगार सृजन भी कर सकती हैं, और जिस तरह उन्हें बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन का समर्थन मिल रहा है, वो समाज में भी साबित करके दिखाएंगी कि न तो वो किसी से कम हैं और न ही उनका राज्य बिहार। बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि बिहार की महिला उद्यमियों के लिए जितनी भी मदद की जरुरत होगी, वो खुद और उनका विभाग पूरी तरह तत्पर रहेगा। सैयद शाहनवाज हुसैन ने महिला उद्यमियों को भरोसा दिया आजादी 75 वर्ष के मौके पर होने वाली 75 प्रदशर्नियों में बिहार की महिला उद्यमियों के उत्पादों को भी प्राथमिकता दी जाएगी और पूरा मौको मिलेगा कि वो अपने हुनर और कारोबार को पूरी दुनिया को दिखा सकें।

गुरुवार को बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज से कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (CII) का भी एक प्रतिनधिमंडल मिला और उनसे बिहार में उद्योग की संभावनाओं पर विमर्श करने के साथ आगामी 4 अक्टूबर को होने वाले ईस्ट इंडिया सम्मिट (East India Summit) कार्यक्रम के बारे में बात की। सीआईआई प्रतिनिधिमंडल से विमर्श के बाद बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने ईस्ट इंडिया सम्मिट में शरीक होने पर अपनी सहमति दी है। सीआईई ईस्टर्न रीजन के द्वारा आयोजित होने वाले ईस्ट इंडिया सम्मिट में अमेरिका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, दक्षिण कोरिया, नेपाल और बांग्लादेश समेत कई देश भाग लेंगे और इसका मुख्य उद्देश्य बिहार समेत पूर्वी भारत में आधारभूत संचरना का विकास और निवेश को बढ़ावा देना है। सीआईआई प्रतिनिधिमंडल में शामिल थे सीआईआई के ईस्टर्ऩ रीजन के रीजनल डायरेक्टर सैकत राय चौधरी, सीआईआई बिहार के चैयरमैन नरेंद्र कुमार, सीआईआई बिहार के वाइस-चैयरमैन सचिन चंद्रा और अन्य। उद्योग मंत्री से मुलाकात के दौरान सीआईआई प्रतिनिधिमंडल ने कोविड राहत सामग्री भी सुपुर्द की। कोविड़ राहत सामग्री में सीआईआई प्रतिनिधिमंडल द्वारा 25 ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर और 25 टाइप डी ऑक्सीजन सिलिंडर दिया गया।

पटना से विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News