युवक ने महिला की काटी नाक, पुलिस ने भी नहीं की सही कार्रवाई, मजबूर महिला ने CM को फेसबुक पर पोस्ट लिखकर लगाई फांसी

युवक ने महिला की काटी नाक, पुलिस ने भी नहीं की सही कार्रवाई, मजबूर महिला ने CM को फेसबुक पर पोस्ट लिखकर लगाई फांसी

DESK : हरदोई जिले के माधौगंज कस्बे में एक महिला ने अपने साथ घटी घटना के संबंध में फेसबुक पर मुख्यमंत्री से कार्रवाई किए जाने की मांग करते हुए एक मार्मिक पोस्ट लिखी और उसके बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। अपने पोस्ट में महिला ने माधौगंज पुलिस पर भी लापरवाही बरतने के आरोप लगाए। महिला की पहचान माधौगंज कस्बे के मोहल्ला आजादनगर निवासी रोली गुप्ता पति मनोज गुप्ता के रूप में की गई है। अब महिला की मौत के बाद एसपी अजय कुमार ने बताया कि घटना से पूर्व महिला की तहरीर पर केस दर्ज किया गया था। पुलिस पर जो आरोप लगाए गए हैं, उनकी जांच करवाई जा रही है। उन्होंने बताया कि मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

मृतका के पति मनोज गुप्ता ने बताया कि मुहल्ला निवासी लवी नाम का युवक पत्नी को आए दिन प्रताड़ित करता था। मृतका के पति मनोज ने बताया कि लवी की हरकतों से त्रस्त होकर उन्होंने अपना मकान छोड़कर किदवई नगर मुहल्ले में किराये का मकान लिया था। पत्नी और बच्चों के साथ वहीं रहने लगा था।  माधौगंज कस्बे के मुहल्ला आजादनगर निवासी मनोज गुप्ता किराए के मकान में रहता है और उसकी सब्जी मंडी में दुकान है। मुहल्ले के ही युवक लवी त्रिवेदी का उसके घर आना जाना था।  बताया कि शनिवार के दिन वह मकान से अपनी दुकान के लिए निकला था, उसी दौरान लवी उसके घर में घुसा और 90 हजार की नकदी व मोबाइल उठा लिया। इसका जब उसकी पत्नी रोली गुप्ता ने विरोध किया तो लवी ने रोली गुप्ता को स्टेशन बुलाया। रोली गुप्ता अपने तीन बच्चों के साथ लवी के पास स्टेशन जा रही थी, तभी रास्ते में बैठे लवी ने रोली गुप्ता को मारना शुरू कर दिया। लवी ने रोली गुप्ता की मुंह से नाक काट ली। जिसके बाद रोली गुप्ता बेसुध होकर मौके पर ही गिर गई। 


मामले की खबर जब पति को लगी तो वह मौके पर पहुंचे और मामले की शिकायत करने के लिए थाने पर गया। जहां पर उसने पुलिस को पूरा वाकया बताया और पुलिस ने तहरीर देने की बात कही। मृतक के पति ने बताया कि पुलिस ने उनकी तहरीर नहीं ली और अपने मुताबिक तहरीर लिखवाई।

फांसी से पहले सीएम योगी को लिए फेसबुक पोस्ट

लवी के ऊपर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न होते देख रोली ने न्याय के लिए मुख्यमंत्री के लिए फेसबुक पर पोस्ट लिखी। फेसबुक पोस्ट पर लिखा कि 'माननीय आदित्यनाथ योगी जी हाथ जोड़कर विनम्र निवेदन है कि मेरे साथ न्याय किया जाए', इसके बाद रोली ने पूरी घटना का जिक्र किया और फिर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए कब्जे में ले लिया।

Find Us on Facebook

Trending News