राजधानी में चोरों ने किया सबसे बड़ा कांड, पॉश इलाके में स्थित एक ही अपार्टमेंट के सात फ्लैटों को एक रात में कर दिया खाली

राजधानी में चोरों ने किया सबसे बड़ा कांड, पॉश इलाके में स्थित एक ही अपार्टमेंट के सात फ्लैटों को एक रात में कर दिया खाली

PATNA : राजजानी पटना के एसएसपी चाहे कितना भी यह दावा कर लें कि यहां अपराधिक वारदातों को रोकने के लिए पुलिस 24 घंटे एक्टिव है, लेकिन दावे हर बार गलत साबित हो जाते हैं। यहां पुलिस की आंखों में धूल झौंकते हुए चोरों ने बीती रात पटना के पॉश इलाके के एक अपार्टमेंट के सात फ्लैटों में चोरी की बड़ी घटना को अंजाम दिया है। चोरी की इस घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। सुबह से ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई है। साथ ही श्वान दस्ते और फोरेंसिक टीम की सहायता से चोरों को पकड़ने की कोशिश तेज कर दी गई है। 

एसके पुरी थाना की घटना

चोरी की यह बड़ी वारदात एसके पुरी थाना क्षेत्र से जुड़ी हुई है। होप शिवालिक अपार्टमेंट के सात फ्लैट में एक साथ चोरी की बड़ी घटना को अंजाम दिया है बताया जा रहा है कि अपार्टमेंट के डी ब्लॉक 113,213,214,सी ब्लॉक के 210, 410 ,वहीं बी ब्लॉक के दो फ्लैट 405, 411 के बंद फ्लैट को चोरों ने अपना निशाना बनाया है। पडोसियों की माने तो बंद फ्लैट के मालिक परिवार के समारोह में शामिल होने गए थे जिस दरम्यान ये चोरी की बड़ी वारदात को चोरो ने अंजाम दिया है। 

सुबह फ्लैट का ताला टूटा मिला 

चोरी की इस घटना की जानकारी तब मिली, जब दूधवाले वहां पहुंचे। पहले एक फ्लैट का ताला टूटने की जानकारी मिली। फिर एक के बाद अपार्टमेंट के सात फ्लैटों में चोरी की बात सामने आ गई। अपरमेन्ट के गार्ड सरदेव प्रसाद के अनुसार चोरी की घटना का अपार्टमेंट के गार्ड तक को पता  नही लगा। यहां रहनेवालों ने इस घटना के लिए पुलिस को जिम्मेदार बताते हुए इलाके में कभी भी गश्ती नहीं करने का आरोप लगाया है।

सीसीटीवी में दिखे पांच चोर 

घटना की सूचना के बाद म घटना  स्थल पर पहुंची पुलिस ने  सीसीटीवी कैमरे को खंगाला जिसमे चोर पांच  की संख्या मास्क और कैप पहने दिख रहे है। पुलिस का मानना है कि पॉश इलाके में इतने बड़े चोरी की घटना को अंजाम इत्मीनान से देने के लिए चोरो ने पहले से प्लानिंग की होगी जिसमे आपार्टमेंट की रेकी और वहां के सुरक्षा व्यवस्थाओं  को भी चोरो ने पहले जांचा होगा जिसके बाद चोरी की इस बड़ी वारदात को अंजाम दिया गया होगा।

फिलहाल पुलिस मामले की अनुसंधान में जुट गई है अब देखना ये लाजमी होगा की चोरी के पीछे के चेहरे कबतक बेनकाब हो पाते है वहीं चोरी का कुल आंकड़ा कितने रुययों तक पहुँचता है।

Find Us on Facebook

Trending News