एयरपोर्ट की भांति विकसित हो रहा बिहार का यह रेलवे स्टेशन, हर साल यहाँ आते हैं लाखों विदेशी

एयरपोर्ट की भांति विकसित हो रहा बिहार का यह रेलवे स्टेशन, हर साल यहाँ आते हैं लाखों विदेशी

पटना. बिहार के रेलवे स्टेशन अब एयरपोर्ट की भांति विकसित होंगे. रेलवे स्टेशन को आधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित कर एयरपोर्ट की भांति विकसित करने की योजना की शुरुआत जनवरी 2022 से हो जाएगी. पहले पहल इसे देश ही नहीं दुनिया के प्रमुख धार्मिक केंद्र गया के रेलवे स्टेशन को विकसित करने से होगी. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार देश के धार्मिक एवं पर्यटन की दृष्टि महत्वपूर्व रेलवे स्टेशनों को विश्वस्तरीय बनाने की योजना पर काम कर रही है. इसी कड़ी में बिहार के गया जंक्शन पर विश्‍व स्‍तर की सुविधाएं विकसित करने की तैयारी है. पूर्व मध्य रेलवे की ने इसकी रुपरेखा बनानी शुरू कर दी है. हाल ही में पूर्व मध्‍य रेल के महाप्रबंधक अनुपम शर्मा ने गया जंक्शन का निरीक्षण किया था. 

रेलवे अधिकारियों के अनुसार गया जंक्शन को 20 सौ करोड़ रुपए की लागत से विकसित किया जाएगा. इसमें गया जंक्शन पर विश्वस्तरीय स्टेशन भवन निर्माण सहित अन्य प्रकार की सुविधाएँ शामिल होंगी. रेलवे ने गया स्टेशन को वर्ष 2024 तक विश्वस्तरीय मानकों पर पुनर्विकसित करने की योजना बने है. इसमें ढांचागत निर्माण नए सिरे से तैयार करने के अलावा सौंदर्यीकरण का काम भी शामिल है. 


गौरतलब है गया न सिर्फ बिहार और भारत के विविध धर्मों के लोगों की आस्था का प्रमुख केंद्र है बल्कि यह दुनिया के कई देशों के लिए प्रमुख धार्मिक स्थल है. पर्यटन की दृष्टि से भी गया के आसपास कई पर्यटन केंद्र हैं. हिंदू और बौध धर्म के लोगों का यहाँ सालों भर जमावड़ा लगा रहता है. हालाँकि गया जंक्शन पर आधुनिक सुविधाओं की कमी लम्बे समय से महसूस की जाती रही है. अब केंद्र सरकार और रेलवे ने इसके कायाकल्प की योजना बनाई है. 20 सौ करोड़ रुपए गया स्टेशन का पुनर्विकास होगा जिसके बाद यह बिहार का आधुनिक सुविधाओं वाला स्टेशन बन जाएगा. 


Find Us on Facebook

Trending News