केंद्र ने जिन्हें कोरोना वारियर्स कहा अब उन पर बरसा रही लाठियां, पुलिस और केंद्र के खिलाफ बिहार के जूनियर डॉक्टरों का विरोध

केंद्र ने जिन्हें कोरोना वारियर्स कहा अब उन पर बरसा रही लाठियां, पुलिस और केंद्र के खिलाफ बिहार के जूनियर डॉक्टरों का विरोध

पटना. नीट-पीजी काउंसलिंग जल्द से जल्द कराने की मांग कर रहे दिल्ली के जूनियर डॉक्टरों पर दिल्ली पुलिस द्वारा लाठी चार्ज करने और कथित अभद्र व्यवहार के खिलाफ बुधवार को बिहार के जूनियर डॉक्टरों ने काला बिल्ला लगाकर कार्य किया. पटना में सुबह से ही जूनियर डॉक्टरों ने विरोध स्वरूप अपना प्रदर्शन शुरू किया. 

उन्होंने केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा, कोरोना काल में जिन डॉक्टरों को सेवर्स और वारियर्स कहा गया अब उन्हीं पर पुलिस लाठियां बरसा रही हैं. दिल्ली में हुई पुलिस बर्बरता के खिलाफ हम सब विरोध कर रहे हैं. न सिर्फ पटना बल्कि राज्य के सभी जूनियर डॉक्टर इस विरोध में शामिल हैं. 

विरोध प्रदर्शन कर रहे जूनियर डॉक्टरों ने कहा कि दिल्ली में आईपीएस रोहित मीणा ने पुलिस बर्बरता की अनुमति दी थी. हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि मीणा के खिलाफ कार्रवाई की जाए. नीट-पीजी काउंसलिंग जल्द से जल्द कराने की मांग करने वालों पर लाठी चार्ज करना कैसे न्यायोचित है. हम केंद्र सरकार से पुलिस पर कार्रवाई करने और नीट-पीजी काउंसलिंग जल्द से जल्द कराने का आग्रह करते हैं. साथ ही दिल्ली के जूनियर डॉक्टरों को हमारा पूर्ण समर्थन है. जूनियर डॉक्टरों ने बुधवार शाम कैंडल मार्च निकालने की घोषणा की है. 

गौरतलब है कि दिल्ली में मंगलवार को जूनियर डॉक्टरों के खिलाफ पुलिस ने बल प्रयोग किया था. इस दौरान कुछ जूनियर डॉक्टरों को चोट भी आने की बात कही गई थी. बाद में पुलिस बर्बरता को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर पुलिस की आलोचना होने लगी. वहीं कई राज्यों के जूनियर डॉक्टरों ने अब दिल्ली के जूनियर डॉक्टरों की मांग के समर्थन में विरोध जताया है. हालाँकि दिल्ली में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल के कारण कई सरकारी अस्पतालों में मरीजों को भारी परेशानी झेलनी पड़ रही है. दिल्ली के कई अस्पतालों के बाहर लोगों को परेशान देखा जा रहा है. वहीं कई लोगों का उपचार नहीं हो पा रहा है और वे इधर उधर परेशान होते दिखे. 



Find Us on Facebook

Trending News