छठी तक के बच्चे नये साल में जाएंगे स्कूल, अभिभावक नहीं भेजने को तैयार

छठी तक के बच्चे नये साल में जाएंगे स्कूल, अभिभावक नहीं भेजने को तैयार

DESK: कोविड-19 का असर साल भर शिक्षा व्यव्स्था पर पड़ा है ,पिछले तीन महीने से स्कूल लगातार बंद है.हालांकि 9 वीं से लेकर 12 वीं कक्षा के बच्चों के लिए स्कूल खोलने की अनुमति  अनलॉक -05 के तहत दे दी गई है .अगर बात छोटे बच्चों की करें तो  कहा जा रहा है कि इस साल उनके लिए स्कूल नहीं खुलेंगे. प्रदेशभर के ज्यादातार निजी विद्यालय ने छठी तक के बच्चों को नये साल में ही बुलाने का निर्णय लिया है. 

छठी क्लास के बच्चे अपनी वार्षिक परीक्षा 2021 में ही देंगे. स्कूल द्वारा उनकी आंतरिक बैठक में ये निर्णय लिया गया है.कोरोना काल की वजह से इस बार छोटे बच्चों की क्लास बंद रखी जाएगी. नवंबर से दिसंबर के बीच में अगर संक्रमण बढ़ता हुआ नहीं दिखाई देगा तो 9 वीं से 12 वीं कक्षा चलाई जाएगी और इसके साथ 7 वीं और 8 वीं कक्षा के छात्रों को भी बुलाया जाएगा.


बता दें कि गृह मंत्रालय की तरफ  से 15अक्टूबर से स्कूल खोलने का निर्देश दिया गया है लेकिन राजधानी की बात करें तो अभी भई अधिकतर स्कूल बंद ही रहेंगे.स्कूलों की मानें तो संक्रमण कम रहा तो छठीं तक के छात्रों को वार्षिक परीक्षा 2021 के समय स्कूल बुलाया जाएगा.अभी इन क्लास के बच्चे ऑनलाइन ही पढ़ाई करेंगे. हालांकि केंद्र सरकार की अनुमति के बाद डाउट क्लास की अनुमति बच्चों को मिली है पर बच्चों की संख्या बहुत कम है. हालांकि उनको स्कूल आने के लिए अभिभावक की अनुमति लेना अनिवार्य है.साथ ही साथ स्कूलों को कोरोना को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा की ओर से जारी सभी नियमों का पालन करना अनिवार्य है. 

Find Us on Facebook

Trending News