TOKYO PARALYMPICS: राष्ट्रीय खेल दिवस पर भाविना पटेल ने रचा इतिहास, देश को दिलाया पहला रजत पदक, प्रधानमंत्री ने फोन कर दी बधाई

TOKYO PARALYMPICS: राष्ट्रीय खेल दिवस पर भाविना पटेल ने रचा इतिहास, देश को दिलाया पहला रजत पदक, प्रधानमंत्री ने फोन कर दी बधाई

N4N DESK: टोक्यो पैरालंपिक में भारत ने अपना खाता खोलते हुए पहला रजत पदक जीत लिया है। भारत की टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविना पटेल ने टोक्यो ओलंपिक में पहली जीत दर्ज कर चांदी पर कब्जा किया है। यहां एक बात और गौर करने वाली है कि अपने पहले ही पैरालंपिक में इतिहास रचते हुए भाविना मेडल जीतने में कामयाब रही हैं।

19 मिनट तक चले टेबल टेनिस के मुकाबले में भाविना के पास गोल्ड जीतने का मौका था, लेकिन फाइनल में चीन की यिंग ने उन्हें सीधे गेम में मात दी। वर्ल्ड नंबर वन यिंग ने पहले गेम से ही भाविना पर दबाव बना लिया। यिंग ने पहला गेम 11-7 से अपने नाम किया। दूसरे गेम में तो यिंग का प्रदर्शन और ज्यादा शानदार रहा और उन्होंने दूसरा गेम 11-5 से अपने नाम किया। तीसरे गेम की शुरुआत में भाविना ने वापसी की कोशिश की लेकिन यिंग ने तीसरा गेम भी 11-6 से जीतकर दिखा दिया कि क्यों वो दुनिया की नंबर वन खिलाड़ी हैं।

सिल्वर पदक जीतने के साथ ही सोशल मीडिया पर टोक्यो पैरालंपिक्स और भाविना पटेल का नाम ट्रेंड करने लगा। ओलंपिक की तरह यहं भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें फोन कर बधाई दी और शानदार प्रदर्शन के लिए उनकी तारीफ की। वहीं राष्ट्रपति कोविंद, राहुल गांधी सहित सभी नामचीन हस्तियों ने उनकी सफलता पर उन्हें बधाई देते हुए ट्वीट किए हैं। बता दें, भाविना पटेल पैरालंपिक खेलों के इतिहास में भारत के लिए मेडल जीतने वाली दूसरी महिला खिलाड़ी हैं। उनसे पहले दीपा मलिक इन खेलों में मेडल जीत चुकी है। दीपा मलिक ने 2016 में रियो पैरालंपिक में गोला फेंक में 4.61 मीटर के सर्वश्रेष्ठ थ्रो के साथ सिल्वर मेडल जीता था। 






Find Us on Facebook

Trending News