इंटर में छात्राओं के एडमिशन के लिए ढाई गुना बढ़ाई गई सीटें : न कॉलेज बढ़ाए, न स्कूल, जानें कैसे शिक्षा विभाग ने किया कमाल

इंटर में छात्राओं के एडमिशन के लिए ढाई गुना बढ़ाई गई सीटें : न कॉलेज बढ़ाए, न स्कूल, जानें कैसे शिक्षा विभाग ने किया कमाल

PATNA : बिहार सरकार शुरू से ही बेटियों के शिक्षा पर जोर देती रही है। उनके लिए कई योजनाएं चलाई गई, ताकि वह अपनी पढ़ाई पूरी कर सके। अब बिहार सरकार के शिक्षा विभाग ने इंटर में एडमिशन के लिए छात्राओं की सीटों में लगभग गुना बढ़ोतरी कर दी है। जहां पिछले साल इंटर में सिर्फ 3.15 लाख छात्राएं एडमिशन ले पाईं थी। वहीं इस बार यह बढ़ाकर आठ लाख कर दी गई है। 

इस तरह बढ़ाई गई सीटें

दरअसल, शिक्षा विभाग के निर्देश पर बिहार बोर्ड ने राज्यभर के सभी बालक स्कूलों को कोएड कर दिया है। ऐसे में जिन स्कूलों में छात्राएं नामांकन नहीं ले पाती थीं, उनमें भी अब उन्हें दाखिले का मौका मिलेगा। इस कारण सूबे के सभी 5946 कॉलेज और स्कूलों में बेटियों का दाखिला होगा। इससे राज्यभर में छात्राओं की सीटें बढ़ गयी हैं। वर्ष 2021 में जहां 3664 स्कूल-कॉलेजों में इंटर में नामांकन लिया गया था। इसके लिए 17 लाख से अधिक सीटें संकायवार निकाली गयी थीं। इस बार 2318 उत्क्रमित विद्यालय शामिल होने से सीटों की संख्या 21 लाख से अधिक होगी। ऐसे में कॉलेज और स्कूल के साथ इंटर में सीटों की संख्या भी बढ़ गयी है। 

अब हर हाई स्कूल में होगा एडमिशन

शिक्षा विभाग के इस नए फैसले के बाद अब बिहार के हर उच्चतर हाई स्कूल और कॉलेज में छात्राओं का एडमिशन हो सकेगा। ऐसे में उन्हें भटकने की जरुरत नहीं होगी। छात्राएं अपनी सुविधा के अनुसार नामांकन ले पायेंगी।

इस माह के अंत से शुरू ऑनलाइन आवेदन

बिहार बोर्ड के अनुसार, नौ मई को मैट्रिक कंपार्टमेंटल-सह- विशेष परीक्षा समाप्त हो जायेगी। मूल्यांकन 15 मई के पहले शुरू होगा। रिजल्ट मई के अंतिम सप्ताह तक जारी होगा। इससे पहले इंटर नामांकन की प्रक्रिया शुरू की जायेगी। ओएफएसएस पर ऑनलाइन आवेदन मई के अंतिम सप्ताह में शुरू होगा। मैट्रिक विशेष परीक्षा में शामिल 50 हजार से अधिक छात्रों को इंटर में नामांकन लेने का मौका मिलेगा।

तीन बार मिलेगा मौका

ऑनलाइन आवेदन के बाद बोर्ड द्वारा मेधा सूची जारी की जायेगी। तीन चरण में मेधा सूची जारी की जायेगी। इसमें जिनका नाम आयेगा, उन्हें पहले नामांकन का मौका मिलेगा। जो तीन चरण में नामांकन नहीं ले पायेंगे, तो उन्हें स्टॉप नामांकन का मौका मिलेगा।

दस विकल्प होंगे मौजूद

ऑनलाइन आवेदन के समय ही छात्राओं को कॉलेज और स्कूल का विकल्प देने का मौका मिलेगा। इसके लिए दस कॉलेज या स्कूल का विकल्प दिया जा सकता है। कॉलेज और स्कूलों की संकायवार सीटों की सूची जल्द जारी की जायेगी।


Find Us on Facebook

Trending News