प्रेम विवाह के चलते मर्डर : हत्या के दो घंटे पहले तक फोन कर थानेदार से सुरक्षा का गुहार लगाते रह गए पति-पत्नी, वाइफ के परिजनों ने की गोली मारकर युवक की हत्या

प्रेम विवाह के चलते मर्डर : हत्या के दो घंटे पहले तक फोन कर थानेदार से सुरक्षा का गुहार लगाते रह गए पति-पत्नी, वाइफ के परिजनों ने की गोली मारकर युवक की हत्या

मोतिहारी. प्रेम विवाह से आक्रोशित परिजनों ने युवक की हत्या करने में सफल रहे हैं. प्रेमी के परिजन पुलिस और न्यायालय से सुरक्षा की गुहार लगाते रहे, लेकिन प्रेमिका के परिजनों ने घर में घुसकर गोलियों से छलनी कर हत्या कर दी. पति की मौत से पूजा चित्कार मारकर रो पड़ी. प्रेमिका पत्नी पूजा के बयान पर 12 लोगों के खिलाफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज किया है. पूजा ने अपने प्रेमी पति की हत्या का आरोप अपने पिता और भाईयों पर लगाया है.

मामले की गम्भीरता के मद्देनजर एसपी ने पीडित परिवार से मिलकर घटना की जानकारी ली है. वहीं पूजा और अवनीश के प्रेम की निशानी आठ महिने के कनक को हमलावर उठा कर ले गये और गांव में छोड़ दिया, जिसे ग्रामीणों की मदद से पूजा के पास सुरक्षित पहुंचाया गया है. एक दर्जन से अधिक की संख्या में पहुंचे हमलावरों ने अवनीश के सिर और शरीर में चार गोलियां मारी है, जिससे उसकी मौत मौके पर ही हो गयी. साथ ही हमलावरों ने अवनीश के पिता प्रेमचन्द्र सिंह और मां के साथ पूजा की भी जमकर पिटाई की है.

मृतक अवनीश की मां की हालत गम्भीर बनी हुई है, जिन्हें मोतिहारी सदर अस्पताल के सघन चिकित्सा केयर युनिट में भर्ती किया गया है. मां अभी भी बेहोश पड़ी है, जबकि पिता प्रेमचन्द्र सिंह के पैर की हड्डियां टूट गयी है तो सिर पर गम्भीर चोट है. प्रेमचन्द्र सिंह घोडासहन प्रखंड के अठमोहान ग्रामीण डाकघर में डाकपाल के पद पर कार्यरत है. जीतना थाना के सठौरा गांव में सोमवार की देर शाम घटित घटना के बाद मोतिहारी सदर अस्पताल में प्रेमिका पत्नी पूजा ने कहा कि वह बार बार पुलिस के वरीय से लेकर कनीय अधिकारियों तक गुहार लगाती रही, जीतना थाना पुलिस कल भी आयी और पुलिस के जाने के आधे घन्टे बाद हमला किया गया.

घर की दिवार को तोड़कर हमलावर घर में घुसे और गोलियों से भूनकर हत्या कर दी. हीं मृतक के घायल पिता प्रेमचन्द्र सिंह ने बताया कि पुलिस पर विश्वास उठ गया है.बार बार के सुरक्षा के गुहार के बाद भी हमलाकर हत्या किया गया है.  अवनीश के भाई सचिन ने बताया कि भाई को चार गोलिया उनके ससूर जी ने मारा है, से उसकी मौत हो गयी है. परिजन घटना के पहले कई बार सुरक्षा को लेकर पुलिस से गुहार लगाया गया. फिर भी सुरक्षा नहीं मिल सकी है, जिससे पुलिस से विश्वास उठ गया है.

वहीं एसपी नवीनचन्द्र झा ने पीडित परिजनों से मिलने के बाद कहा कि 12 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. वहीं त्वरित न्यायालय से कुर्की जप्ती की करवाई की प्रक्रिया करने का निर्देश थानेदार को दिया गया है. वहीं बार बार सुरक्षा की मांग के सवाल पर एसपी ने कहा कि पूरे मामले की जांच के लिए  ढाका के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है. जांच में दोषी पाए जाने वाले पुलिस पदाधिकारी पर करवाई की जाएगी.


Find Us on Facebook

Trending News